News Description
निगम भंग और कूड़े के बिलों पर बरसे कांग्रेसी, दिया धरना

अंबाला : नगर निगम अंबाला को भंग करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। निगम को भंग करने के साथ-साथ डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन बिल, नो कंस्ट्रक्शन जोन में हो रहे कार्यो के खिलाफ कांग्रेसियों ने पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष निर्मल ¨सह की देखरेख में धरना दिया गया। इस धरने में पूर्व मंत्री के साथ-साथ नगर निगम के मेयर रमेश मल, सीनियर डिप्टी मेयर दुर्गा ¨सह अत्री और डिप्टी मेयर सुधीर जायसवाल निगम अधिकारियों पर जमकर बरसें। धरना स्थल पर डिप्टी मेयर सुधीर जायसवाल ने तो दस्तावेज मौके पर मौजूद लोगों के सामने प्रस्तुत किए। इसके अलावा मेयर रमेश मल और सीनियर डिप्टी मेयर दुर्गा ने पार्षद चित्रा सरवारा, स्वर्ण कौर के पति परमजीत ¨सह समेत अन्य पार्षदों के साथ मिलकर नगर निगम के संयुक्त आयुक्त गगनदीप ¨सह को मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा। कांग्रेसियों ने ज्ञापन के माध्यम से कई मुद्दों पर आपत्ति जताई और लिखित में प्रदेश सरकार को इसके बारे में अवगत भी कराया है। कांग्रेस के पूर्व मंत्री निर्मल ¨सह ने कहा कि निगम बनने के जिस तरह से फायदे गिनवाए जाते हैं तो उसी प्रकार इसे तोड़ने के पीछे आम जनता या जनप्रतिनिधियों को कारण बताएं जाएं। नगर निगम को सिर्फ राजनैतिक द्वेष और निजी स्वार्थो के कारण तोड़ा जा रहा है इसके पीछे एक ही मंत्री की मंशा हैं। यदि ऐसा होता है तो अंबाला स्मार्ट सिटी की दौड़ से बाहर हो जाएगा और केंद्र सरकार से मिलने वाली ग्रांट बंद हो जाएगी। लोगों को जनसुविधा देने के नाम पर शुरू की गई डोर-टू डोर कूड़ा कलेक्शन योजना बंद किया जाएं। उधर, मौके पर पुलिस ने अपनी वाहन लगाकर ट्रैफिक व्यवस्था को डायवर्ट और सुचारू रखा। सुरेश त्रेहन, वीरेंद्र गांधी, लक्की ¨सह राणा, संजय, रत्न लाल टांक, जनरैल ¨सह माजरा, आढ़ती निर्मल ¨सह और सतीश कनौजिया आदि कांग्रेसी मौजूद थे।

फोटो : 27

हाईकोर्ट के आदेश नहीं हो सकता है नो-कंस्ट्रक्शन जोन में काम

डिप्टी मेयर सुधीर जायसवाल ने कहा कि मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर के साथ हमने 164 के रकबे में गांधी मैदान का दौरा किया था। नियमों के मुताबिक इस रकबे में कोई भी निर्माण कार्य नहीं हो सकता। इसीलिए दौरे के बाद निगम अधिकारियों का कहा गया था कि यह हाईकोर्ट के आदेशों की उल्लंघना है। लेकिन निगम अधिकारियों ने मंत्री की मांग पर उन्हें खुश करने के लिए बैंक स्कवेयर, फिश मार्केट और ड¨म्पग जोन बनाए जा रहे हैं। डिप्टी मेयर ने विपक्ष के साथ-साथ अपनी पार्टी के मेयर रमेश मल को नहीं बक्शा। उन्होंने कहा कि हाउस की मी¨टग मेयर के कहने पर पांच-सात मिनट खत्म कर दी गई और आम जनता अब डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के दो साल का बिल भरने का दंश झेल रही है। इस बोझ पर दो मिनट भी चर्चा हाउस मी¨टग में नहीं की गई। प्रदेश सरकार नन्हेड़ा की नई आबादी में उजड़े हुए परिवारों को रोजगार और रहने की व्यवस्था करें।