News Description
रवि मर्डर केस:पत्नी बोली-डीएसपी साहब, पति का सिर दिलवा दो

सोमवाररातहुए शहर वासी रवि मर्डर केस में पुलिस के हाथ हत्यारों को लेकर कोई सुराग नहीं लगा। ही रवि का सिर ही पुलिस खोज पाई। गुरुवार को उसका अंतिम संस्कार करने के बाद खफा परिजन रिश्तेदार एकजुट होकर थाने पहुंचे। डीएसपी धीरज कुमार से मिलकर हत्यारों को गिरफ्तार करने और उसका सिर ढूंढवाने की गुहार लगाई। 

मृतक रवि की मां काली प|ी सुनीता बच्चों सहित पहुंची। मां प|ी की आंखों में आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे। सुनीता बार-बार रवि का नाम लेकर चिल्लाने लगती। सुनीता ने डीएसपी से कहा कि उसे उसके पति का सिर चाहिए। सिर मिलने के चलते परिजनों को खाली धड़ का अंतिम संस्कार करना पड़ा। उसकी जुबां पर सिर्फ यही दर्द था कि अब उसकी उसके बच्चों की जिंदगी किसके सहारे गुजरेगी। मंगलवार और शनिवार शनिदेव के नाम पर दान मांगकर रवि बच्चों को पाल रहा था। मां काली देवी ने बताया कि घटना से पहले रवि सायं को अपने दोस्तों के साथ गया था। मां के मुताबिक शराब के ठेके के पास रवि को कुछ युवकों के साथ देखा गया था। यहां से यदि पुलिस जांच करे तो मर्डर को लेकर कई परतें खुल सकती हैं। परिजनों साथ आए पार्षद सुखविंद्र बिट्टू हैप्पी शर्मा ने बताया कि रवि के पिता मनु राम की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। जिसके बाद रवि ने पिता का दान मांगने का काम संभाला। सोमवार वार्ड 14 का रवि लापता हो गया था। मंगलवार सुबह शव ड्रेन रोड सिर कटा मिला था। 

पहले हत्या की, फिर 

काटी गर्दन : डीएसपी 

डीएसपीधीरज कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कयास लगाए जा रहे हैं कि पहले रवि की हत्या की बाद में छिपाने के लिए सिर धड़ से अलग कर फेंक दिया। पुलिस ने पूछताछ के लिए कुछ युवकों को हिरासत में लिया है। इनको ही अंतिम बार रवि के साथ देखा गया था। सीआईए लोकल पुलिस की टीमें हत्यारों का सुराग लगाने में जुटी हैं। उम्मीद है कि जल्द ही पुलिस इस केस को सुलझा लेगी।