News Description
डायरेक्टर ने जताई शांतिभंग होने की आशंका-प्रशासन ने लगाई धारा 144-पर नहीं दिखा असर

पिछलेदसदिनों से एनएचएम के तहत कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं। रोजाना धरना प्रदर्शन हो रहा है। अब नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर ने प्रशासन को लेटर लिख धरने प्रदर्शनों से शांतिभंग होने की संभावना जताई है। जिसे देखते हुए प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी। लेकिन इसका कहीं असर नहीं दिखा। पांच से ज्यादा लोगों के एकजुट होने पर पाबंदी है। लेकिन रोजाना की तरह गुरुवार को भी कर्मचारी अस्पताल परिसर में ही जमा होकर प्रदर्शन करते रहे। बकायदा जुलूस निकाल प्रदर्शन भी किया। 

जिलाधीश एवं उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने नेशनल हेल्थ मिशन के कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल को ध्यान में रखते हुए धारा 144 लगाई है। जिलाधीश ने जारी आदेशों में कहा कि नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर के पत्र मिलने के बाद शहर में एनएचएम कर्मचारियों द्वारा की जा रही हड़ताल,धरने और प्रदर्शन से जानमाल की हानि, शहर में अशांति की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। इसलिए तमाम परिस्थितियों को जहन में रखते हुए और शहर में शांति बनाए रखने और कानून व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम करने के लिए आगामी आदेशों तक धारा 144 लगाई है। आदेशों के तहत किसी भी जगह पर पांच से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने प्रदर्शन करने तथा किसी भी प्रकार का हथियार को लेेकर चलने पर पाबंदी रहेगी। राजकीय स्वास्थ्य सुविधा केन्द्र के दो किमी में यह व्यवस्था रहेगी। 

गुरुवार को एनएचएम कर्मचारियों का दसवें दिन जिला अस्पताल में धारा 144 लगने के बाद भी धरना प्रदर्शन जारी रहा। कर्मचारियों को जिला अस्पताल में प्रदर्शन से रोकने के लिए थर्ड गेट चौकी प्रभारी जयकरण अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने कर्मचारियों को धारा 144 का हवाला देकर प्रदर्शन ना करने के लिए कहा। एनएचएम कर्मचारियों ने कहा कि जिला अस्पताल में धारा 144 को लेकर कोई नोटिस नहीं मिला है। इस पर जयकर्ण ने यूनियन प्रधान को धारा 144 का नोटिस दिखाया। इस पर कर्मचारियों ने कहा कि वह दोपहर बाद जिला अस्पताल से चले जाएंगे। दोपहर बाद कर्मचारियों ने जिला अस्पताल से लेकर बिरला मंदिर तक रोष मार्च निकाला। इस दौरान जाम की स्थिति बनी रही। 

डॉ. श्यामलाल, डॉ. सुरेश, प्रदीप, नीलकंठी, रोहित , सुनीता, रीना, गगन, मोनिका, भुपेंद्र, अशोक, नीरज, प्रवीन सैनी, कुलदीप प्रदीप, सुरेश ने कहा कि प्रशासन अस्पताल में धारा 144 लगाकर उन्हें प्रदर्शन से रोकना चाहता है लेकिन कर्मचारियों का जोश ठंडा नहीं होगा। 

^देर रात यूनियन ने हड़ताल वापिस ले ली है। गुरुवार देर रात सीएम अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई जिसमें मांगांे पर सहमति बन गई। सरकार ने लिखित में आश्वासन दिया है। डॉ.सुरेश, जिलाध्यक्ष, एनएचएम कर्मचारी एसोसिएशन