# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
'नुस्खों' से होगा नगर निकायों का इलाज

रेवाड़ी: नगर निकायों की 'बीमारी'(समस्या) दूर करने के लिए शहरी स्थानीय निकाय विभाग घिसे-पिटे तौर-तरीकों को छोड़कर अब 'नुस्खों' (उपायों) का सहारा लेगा। विभाग विभिन्न राज्यों के उन शहरों की कार्ययोजना अपने यहां लागू करेगा, जो सुदंरीकरण के मामले में पहले ही पहचान बना चुके हैं। संबंधित अधिकारी उन राज्यों व एजेंसियों से भी संपर्क करेंगे, जिनके पास परिणाम देने वाले फार्मूले पहले से तैयार हैं। सूत्रों के अनुसार शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने इस पर काम शुरू कर दिया है।

सरकार का मानना है कि यदि हरियाणा के शहरों के सुंदरीकरण के लिए कोई नई रिसर्च की जाती है तो इसमें काफी समय, श्रम व पैसा खर्च होगा, जबकि प्रदेश के बाहर के कुछ ऐसे शहरों का फार्मूला लागू करना अधिक आसान हैं, जहां निकाय स्तर पर ठोस व तरल कचरा प्रबंधन, मल्टी लेवल पार्किंग आदि उपायों से शहरों की सूरत बदली है।

कुल मिलाकर विभाग एक ओर जहां कुछ दूसरे राज्यों में कामयाब रहे उपाय अपनाएगा, वहीं विशेष कार्यों के लिए निजी क्षेत्र की दक्ष एजेंसियों की सेवाएं ली जाएगी। पंजाब टेक्नीकल यूनिवर्सिटी व कुरुक्षेत्र स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी जैसी संस्थाओं से भी मदद ली जाएगी। एक ऐसा केंद्रित सिस्टम विकसित किया जाएगा, जिसमें घपले की संभावनाएं कम हो जाएगी