News Description
लतिका शर्मा की नहीं चली, बना रहेगा निगम

पंचकूला : नगर निगम की बैठक में पिंजौर और कालका को अलग करने के लिए विधायक लतिका शर्मा का संघर्ष बेकार गया। हजारों लोगों के हस्ताक्षर करवाकर बैठक में निगम से पिंजौर और कालका को अलग करवाने के लिए प्रस्ताव लेकर पहुंचीं लतिका शर्मा का मेयर सहित पार्षदों ने जमकर विरोध किया। ध्वनिमत से इस प्रस्ताव को पास किया गया कि पंचकूला में नगर निगम बनी रहे। पिंजौर कालका भी इसका हिस्सा रहेगे, इन्हे किसी भी हालत में बाहर नहीं किया जा सकता। मेयर ने सभी पार्षदों को खड़ा करके इस मुद्दे को ध्वनिमत से पास करवा दिया। लतिका शर्मा की मांग की का विधायक ज्ञानचंद गुप्ता ने समर्थन किया, लेकिन उनका साथ भी बेकार गया।

नगर निगम के एजेंडे नंबर-6 पर जैसे ही चर्चा शुरू हुई, तो कालका की विधायक लतिका शर्मा, जोकि एक बैनर बनवाकर लाई थी, जिसमें पिंजौर-कालका को अलग करने की मांग लिखी थी, उसे देखकर पिंजौर-कालका के पार्षदों ने विरोध जताया। केवल एक भाजपा पार्षद कृष्ण लांबा लतिका के समर्थन में बोल रहे थे, लेकिन बाकी सभी पार्षद पिंजौर-कालका को पंचकूला निगम में रखने के समर्थन में थे।