News Description
परिचय सम्मेलन को लेकर अग्रवाल समाज की हुई बैठक

अखिल भारतीय अग्रवाल समाज जिला कैथल की एक बैठक एसबीआई रोड पर संपन्न हुई। बैठक में अखिल भारतीय अग्रवाल समाज हरियाणा के अध्यक्ष डॉ. राजकुमार गोयल ने शिरकत की जबकि बैठक की अध्यक्षता कैथल के प्रधान राजकुमार अग्रवाल ने की। बैठक में आगामी 26 जनवरी को दिल्ली में होने वाले उत्तर भारत स्तरीय विवाह योग्य अग्रवाल युवक-युवती परिचय सम्मेलन की तैयारियों को लेकर विचार-विमर्श किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए राजकुमार गोयल ने बताया कि आगामी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश की राजधानी दिल्ली में उत्तर भारत स्तर का एक विशाल अग्रवाल विवाह योग्य परिचय सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है जिसमें दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, राजस्थान और आसपास के राज्यों से सैकड़ों की तादाद में विवाह योग्य प्रत्याशी भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि आज जब समाज में अपनापन समाप्त होता जा रहा है ऐसे में असंख्य अभिभावक अपने विवाह योग्य बेटे बेटियों के लिए उचित रिश्ता तलाशनें की बाट जोह रहे हैं। ऐसे में इस प्रकार के परिचय सम्मेलन सार्थक सिद्ध हो रहे हैं।
गोयल ने कहा कि महाराजा अग्रसेन जनकल्याण समिति द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में हरियाणा व आसपास के राज्यों से डाक्टर, इंजीनियर, आईएएस, एमबीए के अलावा बड़े बड़े व्यवसायों से जुड़े विवाह योग्य अग्रवाल युवक-युवतियां भाग लेकर अपने जीवन साथी का चयन करेंगे। परिचय सम्मेलन के पंजीकरण के लिए आवश्यक है युवक की आयु 21 वर्ष तथा युवती की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। इस अवसर पर सावर गर्ग व रामधन जैन ने कहा कि इस समारोह को लेकर विवाह योग्य अग्रवाल प्रत्याशियों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। परिचय सम्मेलन के लिए इन सब राज्यों से लगातार पंजीकरण फार्म आ रहे हैं जिसको देखते हुए यह लग रहा है कि इस बार का यह परिचय सम्मेलन एक ऐतिहासिक परिचय सम्मेलन साबित होगा।
इस मौके पर पवन बंसल ने कहा कि इस विवाह योग्य परिचय सम्मेलन के लिए प्रत्याशी 5 जनवरी तक अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि परिचय सम्मेलन आज के समय की जरूरत बन कर रह गया है। इस प्रकार के परिचय सम्मेलन से जहां मनपसंद रिश्ता मिलने में आसानी हो जाती है वहीं दहेज प्रथा जैसी बिमारी को रोकने में भी ये परिचय सम्मेलन सहायक होते है। मनोज गुप्ता व सुभाष गर्ग ने कहा कि इस सम्मेलन में भाग लेकर विवाह के लिए लड़का-लड़की ढूंढऩेे से लेकर देख दिखाई जैसी बहुत सी परेशानियों से बचा जा सकता है। इसके अलावा जिन घरों में शादी के कुछ साल बाद पति या पत्नी की आकस्मिक मौत हो जाती है या फिर अवांछित कारणों से तलाक की घटना घट जाती है, ऐसे में पुर्नविवाह का स्थायी समाधान भी परिचय सम्मेलन ही है। इन सभी आवश्यकताओं के मद्देनजर दिल्ली में यह विशाल परिचय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है।