News Description
भ्रष्टाचार का पर्दाफाश होते ही रोडवेज के टेस्ट स्थल पर हुई नो-एंट्री

सिरसा : रोडवेज चालक भर्ती टेस्ट के दौरान सिरसा में भ्रष्टाचार का पर्दाफाश होते ही अधिकारियों ने टेस्ट स्थल पर नो-एंट्री के आदेश जारी कर दिए हैं। बस स्टैंड पुलिस चौकी के प्रभारी को भ्रष्टाचार के इस खेल की निगरानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बुधवार को मीडिया तक को टेस्ट स्थल पर जाने से रोक दिया गया। हालांकि यह सख्ती मंगलवार शाम को भ्रष्टाचार के आरोप में ड्राइवर की गिरफ्तारी के बाद ही हुई है।

इससे पहले रोजाना भर्ती स्थल पर मीडिया के अलावा डिपो के कर्मचारी भी जाते रहे हैं। कार्यशाला के गेट पर दो पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। इसी तरह उम्मीदवारों के बैठने के स्थान पर भी एक पुलिसकर्मी लगाया गया है जबकि चौकी प्रभारी एक अन्य कर्मचारी के साथ उम्मीदवारों के कागजात वेरिफिकेशन की जगह मौजूद है।

इससे पहले तक खुद रोडवेज के ड्राइवर-कंडक्टर उम्मीदवारों को डग टेस्ट और ऐट सेप टेस्ट पास करने के लिए टिप्स दे रहे थे। कई कर्मचारी तो अधिकारियों के आसपास ही बैठे रहते थे। मगर अब सवाल यह उठता है कि भ्रष्टाचार का मामला सामने आने के बाद ही सख्ती क्यों की गई। पहले दिन से ही कड़े प्रबंध क्यों नहीं किए गए। इसका मतलब अधिकारियों द्वारा पहले आंखें मूंद कर टेस्ट लिया गया। कई उम्मीदवारों को तो ड्राइवर व कार्यशाला के कर्मचारी इशारों में बताते थे कि डग पर बस को चढ़ाते समय किस तरह सावधानी रखनी है।