News Description
प्लाट की रजिस्ट्री के नाम पर 5 हजार रिश्वत लेता नायब तहसीलदार पकड़ा

प्लॉट की रजिस्ट्री पर हस्ताक्षर करने की एवज में पांच हजार रुपए की रिश्वत लेते उचाना के नायब तहसीलदार होशियार को विजिलेंस टीम ने पकड़ा है। आरोपी के खिलाफ विजिलेंस ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।उचाना.प्लॉट की रजिस्ट्री पर हस्ताक्षर करने की एवज में पांच हजार रुपए की रिश्वत लेते उचाना के नायब तहसीलदार होशियार को विजिलेंस टीम ने पकड़ा है। आरोपी के खिलाफ विजिलेंस ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। अलीपुरा गांव निवासी दलबीर गिल ने विजिलेंस कार्यालय में शिकायत दी थी कि उचाना तहसील का नायब तहसीलदार होशियार सिंह प्लॉट की रजिस्ट्री करने की एवज में पांच हजार रुपए मांग रहा है।


दलबीर ने बताया कि उसकी चाची कृष्णा ने गांव के ही विरेंद्र सिंह से 300 गज का प्लॉट 2000 हजार रुपए प्रति वर्गगज के हिसाब से लिया था। उस प्लॉट की रजिस्ट्री करने के लिए जब वे तहसील कार्यालय में पहुंचे तो नायब तहसीलदार ने दस हजार रुपए की रिश्वत मांगी। लेकिन बाद में उनका सौदा पांच हजार रुपए में तय हो गया।
 
गुरुवार को रजिस्ट्री के लिए फोटो आदि लिए गए, लेकिन नायब तहसीलदार ने उस पर हस्ताक्षर नहीं किए। बोले वे शुक्रवार सुबह पांच हजार रुपए देकर रजिस्ट्री ले जाना। विजिलेंस इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा ने दलबीर को रिश्वत की राशि के नोट हस्ताक्षर व पाउडर लगाकर दे दिए। शुक्रवार सुबह विजिलेंस इंस्पेक्टर के नेतृत्व में टीम उचाना उपमंडल परिसर में पहुंची। जैसे ही दलबीर ने अपने कार्यालय में मौजूद नायब तहसीलदार होशियार सिंह को रिश्वत की राशि दी तो टीम ने उसे दबोच लिया।