News Description
शौचालय की सुविधा न होने पर पंप संचालक पर होगी कार्रवाई

सोनीपत : शहर को खुले में शौच से शतप्रतिशत मुक्त करने के लिए निगम ने नई पहल शुरू की। निगम की ओर से जारी किए गए निर्देश के मुताबिक पेट्रोल पंपों के शौचालय को आम आदमी इस्तेमाल कर सकेगा। शौचालय पंप संचालक की निजी संपत्ति नहीं बल्कि हर आदमी की है।

जरूरत पड़ने पर वह इनका बेझिझक इस्तेमाल कर सकता है। नगर निगम ने सभी पेट्रोल पंप मालिकों से पंप परिसरों में शौचालय बनाकर सहयोग मांगा है। लोगों को जागरूक करने के लिए पेट्रोल पंप संचालक बाकायदा बोर्ड भी लगाएंगे। निगम क्षेत्र के सभी पेट्रोल पंप धारकों को, शौचालय बोर्ड और उस पर सूचना प्रदर्शित करनी होगी। जल्द ही टोल फ्री नंबर भी जारी होगा। सुविधा न मिलने पर सूचना निगम को दी जा सकेगी।

वैसे तो सभी पेट्रोल पंप अपने परिसर में शौचालय रहते हैं, लेकिन अब ऐसे शौचालय आम जनता की सुविधा के लिए खुले रखने की हिदायत दी गई है। जो स्वच्छता को बनाए रखने में उनका सहयोग होगी। फिर भी जिन पेट्रोल पंप परिसरों में आम जनता के प्रयोग के लिए शौचालय नहीं हैं। वहां ऐसे शौचालय उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया है। इससे स्वच्छ भारत मिशन को भी बल मिलेगा।

किसी पेट्रोल पंप पर जाते हैं और शौचालय की बदहाली सामने आती है तो निगम के स्वच्छता एप के जरिए इसकी शिकायत भी की जा सकती है। साथ ही इसकी शिकायत पेट्रोलियम मंत्रालय को भी भेजी जा सकती है। जब भी किसी को पेट्रोल पंप खोलने का लाइसेंस मिलता है तो उसके प्रावधान में स्पष्ट तौर पर यह बात शामिल होती है कि पेट्रोल पंप पर पीने के पानी और शौचालय की व्यवस्था अनिवार्य रूप से होगी। सुविधा न देने वाले पंप संचालक पर कार्रवाई भी होगी