News Description
स्वच्छता सैनिक होते हैं सफाई कर्मी : सुभाष चंद्र

 हरियाणा राज्य स्वच्छ भारत मिशन के कार्यकारी वाइस चेयरमैन सुभाष चंद्र ने कहा है कि सफाई कर्मी स्वच्छता सैनिक होते हैं। एक सैनिक देश की सरहदों की रक्षा करता है तथा दूसरा स्वच्छता सैनिक देश को गंदगी रूपी रावण से निजात दिलाता है। इनकी हर तकलीफ को सरकार समझती है और इसी तकलीफ को समझते हुए मुख्यमंत्री ने ग्रामीण क्षेत्र में लगे चौकीदारों को भी नए साल से उनके खाते में सैलरी डालने का ऐलान किया है। 
श्री चंद्र आज स्थानीय पंचायत भवन में आयोजित स्वच्छता वर्कशॉप में जिले के शहरी व ग्रामीण सफाई कर्मियों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने सफाई कर्मियों की शिकायतें भी सुनीं और उनको पूर्ण करने का आश्वासन दिया।
उन्होंने कहा कि इस वर्कशाप का आयोजन इस जिले में ही नहीं बल्कि सभी जिलों में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता सैनिक स्वच्छता अभियान की की अहम कड़ी है। 
उन्होंने कहा कि जब तक अंत्योदय तरक्की नहीं करता जब तक देश प्रदेश में सद्भाव, समता, समानता व भाईचारा नहीं हो सकता। अंत्योदय लाइन में आखिर में खड़ा वह गरीब व्यक्ति है तो दिन-रात मेहनत कर देश के विकास में अपना योगदान देता है। 
उन्होंने कहा कि स्वच्छता केवल भाषण का नहीं बल्कि व्यवहार का विषय है। सब हर आदमी का भाव होना चाहिए। धीरे-धीरे समाज स्वच्छता के प्रति जागरूक हो रहा है। हमें अपनी तरफ से पूरी मेहनत के साथ प्रधानमंत्री के स्वच्छता के अभियान को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के सफाई कर्मी बिना किसी भेदभाव काम करें। सरपंच गांव का मुखिया होता है। वह आपके काम को देख सकता है लेकिन हटाने का काम सरपंच का नहीं है। उन्होंने कहा कि वे सरपंचों की बात मानें और उनके सहयोग से भी विशेष सफाई चलाएं। 
इस अवसर पर डीआरओ मातूराम, डीडीपीओ कुलदीप सिंह, इओ नगर परिषद अभय सिंह, मीडिया कोर्डिनेटर तेजिंद्र बिडलान, संदीप, बलकार, अटेली नगर परिषद के सचिव प्रदीप कुमार, एमई चिमन लाल, सेनेटरी इंस्पेक्टर आनंद मलिक, विकास जेई व अन्य अधिकारी मौजूद थे।