News Description
आदर्श ग्राम योजना के तहत ग्राम सभा की बैठक का आयोजन

 जिला के गांव सिवाह के सीनियर सैकेण्डरी स्कूल परिसर में सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत ग्राम विकास योजना तैयार करने के लिए ग्राम सभा की बैठक का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने की। गांव के सरपंच खुशदिल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और गांव सिवाह में करवाए जा रहे विकास कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। बैठक में सांसद की ओर से ओएसडी विरेन्द्र गौतम के अलावा ग्रामीण विकास से सम्बन्धित सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। 
ग्राम सभा की बैठक को सम्बोधित करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने कहा कि गांव सिवाह के चहुॅमुखी विकास के लिए सांसद अश्वनी चौपड़ा ने गोद लिया हुआ है। यही नहीं, यह जिला का जीटीरोड का सबसे बड़ा गांव भी है। उन्होंने कहा कि गांव सिवाह को आदर्श गांव बनाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से भरपूर प्रयास किये जाएंगे। लेकिन जब तक इस गांव के विकास में प्रत्येक नागरिक की भागीदारी नहीं होगी, तब तक गांव का चहुॅमुखी विकास असम्भव है।
उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास से सम्बन्धित विभागों की ओर अलग-अलग तिथियों में शिविर लगाए जाएंगे ताकि इस गांव के लोगों को बार-बार जिला मुख्यालय के  चक्कर न लगाने पड़े। उन्होंने कहा कि इस गांव में खेलों को बढ़ावा देने के लिए विभाग की ओर से एक नर्सरी बनाई जाएगी। गांव की 17 आंगनबाडिय़ों में दी जा रही सुविधाओं को दुरूस्त किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि यदि कोई ग्रामीण बकरी पालन, सुअर पालन, गाय अथवा भैंस की डेयरी स्थापित करेगा तो उसे शैड बनाने में आर्थिक सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस गांव के लोगों को अपना ब्रान्ड बनाकर सब्जियों को बाजार में बेचना चाहिए। यदि कोई किसान फरवरी में टमाटर की फसल लगाएगा तो उसे बागवानी विभाग की ओर से 8 हजार रूपये प्रति एकड़ के हिसाब से अनुदान दिया जाएगा। इसके अलावा देसी गाय की डेयरी, मछली पालन पर भी सरकार की ओर से अनुदान दिया जाएगा। पीने के पानी के लिए गांव में तीन नये टयूवैल लगाए जाएंगे और पीने के पानी के नये पाईप जमीन में दबाए जाएंगे। इसके अलावा गांव में चार रास्ते बनाए जा रहे हैं तथा चार और रास्ते पक्के बनाए जाएंगे। कृषि विभाग की ओर से गन्ना फार्मिंग की नई जानकारी प्राप्त करने के लिए किसानों का दल महाराष्ट्र भेजा जाएगा। इसी प्रकार मछली पालन के लिए इच्छुक किसानों के दल को चेन्नई भी भेजा जाएगा। लोगों को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए सिवाह गांव में पंजाब नेशनल बैंक के प्रशिक्षण केन्द्र से लगभग 20 महिला व पुरूषों के स्वयं सहायता समूहों को प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा। सौर उर्जा को बढ़ावा देने के लिए इस गांव में आईआरईपी योजना के तहत सौर उर्जा शिविर भी लगाया जाएगा। अतिरिक्त उपायुक्त ने ग्रामीणों द्वारा दिए गए अधिकतर सुझावों को स्वीकार करते हुए इस गांव के विकास कार्यों के लिए बनाई गई योजना में शामिल करवाया। बैठक में सरपंच खुशदिल कादियान, मास्टर ईश्वर सिंह, पूर्व सरपंच सूबेदार कर्णसिंह और प्रसिद्ध खिलाड़ी प्रवीण बिनु ने गांव के विकास के लिए अनेक सुझाव अतिरिक्त उपायुक्त को दिए।