News Description
10 दिन से लापता युवक का शव जंगल में मिला

बिलासपुर : 10 दिन से लापता 21 वर्षीय मांगा राम का शव मंगलवार सुबह कस्बा सरकारी जंगल में पेड़ के नीचे मिला। पेड़ पर चुनरी बंधी थी। आधी चुनरी मृतक के गले में बंधी थी। शव काफी फूल चुका था। इसलिए सिविल अस्पताल जगाधरी में डाक्टरों ने उसका पोस्टमार्टम करने से मना कर दिया। शव का पोस्टमार्टम अब बुधवार को मुलाना के मेडिकल कालेज में कराया जाएगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बिलासपुर की हरिजन बस्ती निवासी मांगा राम मेहनत मजदूरी करता था। दो दिसंबर को वो गांव ब्राह्मण खेड़ा में किसी व्यक्ति से रुपये लेने गया था। परंतु देर शाम तक वो घर पर नहीं लौटा था। उसकी काफी तलाश की परंतु उसका कुछ पता नहीं चला। उसके पिता जगमाल ¨सह ने उसके लापता होने की शिकायत थाना बिलासपुर में दी। पुलिस ने उसकी गुमशुदगी का केस दर्ज किया था। इसके बावजूद उसका कुछ पता नहीं चला। मंगलवार सुबह कुछ महिलाएं जंगल में लकड़ी इक्ट्ठा करने गई थी। इसी दौरान उन्होंने पेड़ के नीचे एक युवक का शव पड़ा देखा। शक के आधार पर मांगा राम के परिजन पड़ोस के लोगों के साथ जंगल में गए। मृतकों ने मृतक की पहचान मांगा राम के तौर पर की। कुछ ही देर में जंगल में सैकड़ों लोग इक्ट्ठा हो गए। जिसको भी सूचना मिली वो जंगल की तरफ चल दिया। मामले की सूचना कस्बा के सरपंच चंद्रमोहन कटारिया को दी गई।

सरपंच ने इसकी सूचना थाना बिलासपुर पुलिस को दी। मौके पर एएसआई हरभजन ¨सह व एएसआई चंद्रपाल जांच के लिए पहुंचे। जिस पेड़ के नीचे शव मिला तो उस पर चुनरी बंधी थी। आधी चुनरी उसके गले में थी। शव से काफी बदबू आ रही थी। कयास लगाया जा रहा है कि मृतक के वजन से चुनरी बीच में से टूटी होगी।