News Description
ड्राइवर टेस्ट पास कराने के मामले का पर्दाफाश

सिरसा : परिवहन विभाग में चल रही चालक भर्ती प्रक्रिया भी धांधली में फंस गई है। सिरसा में विजिलेंस ने टेस्ट पास कराने के मामले का पर्दाफाश किया है और 50 हजार रुपये की राशि के साथ टेस्ट टीम में शामिल एक ड्राइवर को काबू किया है। बस अड्डा के बाहर से विजिलेंस ने तहसीलदार की मौजूदगी में कार्रवाई कर चालक को  हिरासत में लिया। विजिलेंस इंस्पेक्टर भूपेंद्र शर्मा ने आरोपी ड्राइवर किस्मत के विरुद्ध भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज करने की जानकारी दी है।

विजिलेंस इंस्पेक्टर ने बताया कि सिरसा में चल रही भर्ती प्रक्रिया में भ्रष्टाचार की शिकायत आज ही प्राप्त हुई। शिकायतकर्ता राजस्थान के झासल निवासी विनोद कुमार ने बताया कि ड्राइवर किस्मत टेस्ट पास कराने की एवज में 50 हजार रुपये की मांग कर रहा है जिसके बाद तत्काल टीम का गठन किया गया है। तहसीलदार रामनिवास को बतौर डयूटी मजिस्ट्रेट कार्रवाई में शामिल किया गया। जिसके बाद शिकायतकर्ता को दो हजार रुपये के 25 नोट दिए गए और उसे भेज दिया गया। जैस्े ही शिकायतकर्ता ने रकम दिए जाने की जानकारी दी तत्काल ड्राइवर की तलाशी ली तो उससे रकम बरामद हो गई।

इंस्पेक्टर भूपेंद्र ने बताया कि अभी आरोपी को हिरासत में लिया गया है। उससे रकम बरामद हो गई है। पूछताछ कर रहे हैं। कई और खुलासे हो सकते हैं। आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है