News Description
फूलों की खुशबू से महकेंगे शहर के चौराहे व प्रवेश द्वार

सोनीपत: अगले साल से शहर के सभी चौक-चौराहों के साथ ही मुख्य प्रवेश द्वार फूलों की खुशबू से महकेंगे। वन विभाग की ओर से यहां हरियाली का उचित इंतजाम तो होगा ही, साथ ही कई तरह के खूबसूरत फूल लगाकर सुंदरता बढ़ाने पर भी जोर दिया जाएगा। इसके लिए विभाग की ओर से खास तैयारी भी शुरू कर दी गई है। इसके तहत गुलाब, कचनार, गेंदा, चमेली व कनेर की पौध तैयार की जा रही है। इन्हें नया वित्त वर्ष शुरू होने के साथ ही यानी एक अप्रैल से शहर के अलग-अलग स्थानों पर लगाना शुरू कर दिया जाएगा।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सोनीपत में ककरोई, मुरथल व खूबडू के अलावा गन्नौर स्थित सरकारी नर्सरी में काम चल रहा है। इस बार हरियाली वाले पौधों के साथ ही सुंदर फूलों की पौध पर भी खास ध्यान दिया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य शहर के प्रमुख चौक-चौराहों के आसपास हरियाली को बढ़ाना तो है ही साथ ही सुंदरता पर खास जोर देने की तैयारी है। 

अगर सोनीपत जिले की बात करें तो यहां के एंट्री प्वाइंट व चौक-चौराहे रूखे से लगते हैं। अगर दिल्ली की ओर से आ रहा कोई भी व्यक्ति बहालगढ़ से शहर की ओर मुड़ता है तो हरियाली का अभाव साफ दिखता है। यहां सुंदरता तो दूर धूल उड़ती साफ देखी जा सकती है। इसी के साथ अगर पानीपत की ओर से आ रहा कोई व्यक्ति मुरथल से शहर में प्रवेश करता है तो साफ व चौड़ी सड़क होने के बावजूद वह हरियाली या सुंदरता नदारद ही मिलती है।

इसके अलावा विभिन्न गांवों से शहर में घुसने वाले मार्गों की हालत तो बेहद खस्ता है। अब वन विभाग की ओर से अगर छायादार पेड़-पौधों के साथ ही महकते फूलों को लगाया जाएगा तो इनकी तस्वीर कुछ साफ दिखाई देंगी।