News Description
झज्जर में एनएचएम कर्मियों का आंदोलन तेज, बहादुरगढ़ में ड्यूटी करने को तैयार

एकसप्ताह तक सिविल अस्पताल परिसर में धरना देकर सरकार और स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ नारेबाजी कर रहे एनएचएम कर्मचारियों को मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग प्रशासन ने अस्पताल परिसर से निकाल दिया। यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। नौकरी से पहले ही बर्खास्त हो चुके एनएचएम कर्मचारी प्रशासन के इस कदम से बौखला गए। सभी ने स्वास्थ्य मंत्री के पुतले की शवयात्रा निकाली और श्रीराम शर्मा पार्क के पास पुतला दहन किया। अब एनएचएम कर्मचारियों का धरना श्रीराम पार्क से संचालित होगा। एनएचएम कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल के आठवें दिन स्वास्थ्य विभाग की पार्किंग स्थल पर धरना दे रहे थे। इसी सुबह 11 बजे सूचना आई कि वे यहां से चले जाएं यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। अब वे सिविल अस्पताल में धरना प्रदर्शन नहीं कर सकते। इसके बाद एनएचएम कर्मचारियों ने बैठक की और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की शव यात्रा निकाली। महिलाएं शव यात्रा को कांधा देकर सबसे आगे चल रही थी। शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुई श्रीराम पार्क पहुंची। यहां स्वास्थ्य मंत्री के पुतले का दहन किया। एनएचएम कर्मचारी यूनियन के जिला अध्यक्ष कृष्णलाल मल्हान ने कहा कि कर्मचारियों की मांगों के प्रति सहानुभूति दिखाने के बजाए सरकार उन्हें बर्खास्त कर रही है। सरकार के तानाशाह रवैया के चलते कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा कि सरकार के रवैये के चलते अब कर्मचारी भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती तब तक श्रीराम शर्मा पार्क में आंदोलन जारी रहेगी। 

झज्जर. स्वास्थ्य मंत्री अिनल िवज की शव यात्रा काे कांधा देतीं एनएचएम की महिला कर्मचारी। 

बहादुरगढ़ | एनएचएमकर्मचारी अब उसी स्थिति में ड्यूटी पर लौटने को तैयार हो रहें हैं। मंगलवार को कई हड़तालीकर्मी सिविल अस्पताल में ड्यूटी ज्वाइन करने पहुंचे, लेकिन अफसरों ने उनसे लिखित में अनुरोध मांग लिया। जिला मुख्यालय से अनुमति के बाद ही ये कर्मी ड्यूटी ज्वाइन कर पाएंगे। एनएचएम कर्मचारियों की ओर से अपनी मांगों को लेकर पांच दिसंबर से हड़ताल शुरू की गई थी। एनएचएम कर्मचारी नागरिक अस्पताल में ड्यूटी ज्वाइन करने पहुंच गए। दो तीन कर्मचारियों ने अधिकारियों से मुलाकात करके ड्यूटी करने की बात कही। इस पर उनसे लिखित में अनुरोध मांगा गया। इस अनुरोध पत्र को जिला मुख्यालय पर भेजा जाएगा। वहां से अनुमति मिलती है तो ही इन कर्मियों की ज्वाइनिंग होगी अन्यथा नहीं। इस स्थिति को देखकर कुछ कर्मचारी तो अधिकारियों के पास पहुंचे ही नहीं और अस्पताल परिसर में ही टहलते रहे। नागरिकअस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी एवं एसएमओ डाॅ. वीरेंद्र अहलावत का कहना है कि एनएचएम कर्मचारियों की ज्वाइनिंग जिला मुख्यालय से ही होती है। ऐसे में जो कर्मचारी ज्वाइनिंग करना चाहते हैं, उनके अनुरोध पत्र सीएमओ के पास भेजे जाएंगे। वहां से अनुमति मिलने पर ही ज्वाइनिंग दी जाएगी।