News Description
गोहाना में अवैध रूप से महर्षि वाल्मीकि स्मारक बनाने पर बढ़ा तनाव

गोहाना: वाल्मीकि समाज के लोगों ने समता चौक के निकट ही महर्षि वाल्मीकि स्मारक बनाने के लिए सोमवार सुबह निर्माण कार्य शुरू करवा दिया। अवैध रूप से निर्माण करवाने पर अधिवक्ता वेदप्रकाश शर्मा ने स्थानीय अदालत में याचिका दायर कर दी। अदालत ने त्वरित सुनवाई करते हुए नगर परिषद अधिकारियों को अवैध निर्माण हटाने और बुधवार को स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के आदेश दे दिए। इसके बाद पुलिस व नप के अधिकारी अवैध निर्माण हटवाने पहुंचे तो तनाव बढ़ गया। शाम तक चौक छावनी बना नजर आया।

मंगलवार सुबह तक सब कुछ सामान्य था। देखते ही देखते वाल्मीकि समाज के लोगों ने अपनी बस्ती व समता चौक के निकट महर्षि वाल्मीकि स्मारक के लिए सड़क के हिस्से में निर्माण करवाना शुरू कर दिया। सुबह करीब ग्यारह बजे तक वहां निर्माण कार्य चलता रहा । नप अधिकारियों व पुलिस को इस बारे में भनक तक नहीं लगी। इसी बीच अधिवक्ता वेदप्रकाश शर्मा ने अदालत की शरण ले ली। अदालत ने इस मामले में सुनवाई करते हुए नप अधिकारियों को अवैध निर्माण हटाने और पुलिस को इस कार्य में सुरक्षा देने के आदेश दे दिए। जिस जगह निर्माण करवाया गया है वह हाईवे की जमीन बताई गई है। दोपहर के समय ही अदालत के आदेश नप अधिकारियों और पुलिस तक पहुंच गए। अदालत ने शहर थाना के एसएचओ को निर्देश दिए कि अवैध निर्माण हटाने के लिए नप को सुरक्षा दी जाए। अदालत ने अधिकारियों को बुधवार तक मौके की स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के आदेश भी दिए। आदेश मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और निर्माण को रुकवा दिया। शाम के समय नप के अधिकारी भारी सुरक्षा बल के साथ निर्माणाधीन स्थल पर पहुंचे।

पुलिस और नप अधिकारियों ने वाल्मीकि समाज के लोगों को अवैध निर्माण हटाने के लिए दो घंटे का अल्टीमेटम दिया। मौके पर मौजूद लोगों ने बुधवार सुबह तक अवैध निर्माण को हटवाने का वादा किया। अधिकारियों ने कहा कि अगर अवैध निर्माण नहीं हटवाया गया तब बुधवार सुबह इसे हटा दिया जाएगा।