News Description
बारिश से खिले किसानों के चेहरे , दूर हुई फ़सल की चिंता

रेवाड़ी: सोमवार देर शाम से शुरू हुई बारिश ने किसानों के चेहरे खिला दिए हैं। उनकी मानें तो फसलों के लिए यह बारिश किसी सोने से कम नहीं रही है। सबसे अधिक फायदा गेहूं की फसल को होगा। हालांकि, बारिश के बाद मंगलवार को अधिकतम तापमान 16.5 डिग्री सेल्सियस पर आ गया है जो कि सोमवार के मुकाबले 7 डिग्री सेल्सियस कम रहा। सुबह बादलों के छाए रहने से न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया।

मंगलवार को बारिश तो नहीं हुई, लेकिन सड़कों पर कीचड़ की वजह से वाहन चालकों के साथ पैदल लोगों को काफी दिक्कत हुई। शहर में कई स्थानों पर जलभराव की भी समस्या रही। बारिश के असर की वजह से मंगलवार सुबह का न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो कि सोमवार के मुकाबले 3 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा वहीं अधिकतम तापमान 16.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है जो कि सोमवार के मुकाबले 7 डिग्री अधिक रहा है। सोमवार को अधिकतम तापमान 23 डिग्री दर्ज किया गया था। तापमान में आई गिरावट का असर दिन में आम लोगों की दिनचर्या पर नजर आया। आम दिनों में जहां कम लोग कम गर्म कपड़े पहन रहे थे वहीं मंगलवार को लोग दिनभर गर्म कपड़ों में रहे तथा गर्म खाद्य पदार्थों की भी बिक्री में अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक बिक्री हुई।

बारिश ने दूर की सिंचाई की चिंता

बारिश से किसानों की न केवल ¨सचाई की ¨चता दूर हो गई है अपितु एक सप्ताह पहले तक तापमान में आ रहे उतार-चढ़ाव का क्रम भी थम गया है। 6 दिसंबर से 10 दिसंबर तक जिला में अधिकतम तापमान 27.5 डिग्री सेल्सियस के आसपास चल रहा था जिसकी वजह से फसलों में रोग लगने की भी संभावना बढ़ गई है। अधिक तापमान की वजह से किसानों ने ¨सचाई भी प्रारंभ कर दी थी लेकिन 10 दिसंबर की रात से बदलाव के बारिश की संभावना बढ़ गई तथा इसके बाद बारिश ने किसानों की ¨चता को दूर कर दिया।