# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
खाद की किल्लत से परेशान किसान

होडल: खाद की किल्लत को लेकर ग्रामीणों को आए दिन परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक ओर सरकारी खाद एजेंसियों पर खाद उपलब्ध नहीं होने का बोर्ड लगाकर ग्रामीणों को सांत्वना दी जा रही है तो वहीं दूसरी ओर प्राईवेट खाद विक्रेता मनमर्जी रेट पर दवाई के साथ खाद बिक्री कर चांदी काट रहे हैं। समस्या को लेकर अब दर्जनों ग्रामीणों ने तहसीलदार संजीव नागर को शिकायत देकर खाद विक्रेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

ग्रामीण देवी नंबरदार, राजेंद्र, हरेराम, जगत, प्रद्युमन, गोर्वधन, करन ¨सह, लक्खीराम, लेखन आदि ने तहसीलदार को दी शिकायत में बताया कि सरकारी खाद एजेंसियों पर खाद नहीं मिल रहा है, लेकिन प्राईवेट खाद विक्रेताओं के गोदाम खाद से अटे पड़े हैं। यूरिया के 295 रुपये के कट्टे की एवज में दुकानदार 330 से दवाई के साथ 600 रुपये तक में खाद उपलब्ध करा रहे हैं।

किसानों का कहना था कि बीती रात क्षेत्र में हुई बरसात के बाद अब फसल में यूरिया खाद की आवश्यकता है, लेकिन सरकारी एजेंसी पर खाद उपलब्ध नहीं हो रहा है, जिसके कारण प्राईवेट खाद विक्रेताओं से उनकी मनमर्जी के रेटों पर खाद लेने को मजबूर होना पड़ रहा है।