News Description
लिपिक व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने डीईओ को सौंपा ज्ञापन

यमुनानगर: शिक्षा विभाग में काम कर रहे लिपिक व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की सांझी मांगों पर बनी हरियाणा शिक्षा विभाग कर्मचारी तालमेल कमेटी के पदाधिकारियों ने रजनीश शर्मा व राजकुमार की अध्यक्षता में सोमवार को जिला शिक्षा अधिकारी के साथ उनके कार्यालय में बैठक की व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा।

सर्वकर्मचारी संघ के प्रदेश आडिटर सतीश सेठी ने कहा कि भाजपा के घोषणा पत्र में पंजाब के समान वेतनमान, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, प्रत्येक साल एक लाख बेरोजगारों को रोजगार देने का वादा किया गया था। तीन साल में इनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया। इससे कर्मचारियों में सरकार के प्रति गुस्सा व बेरोजगारों में गहरी निराशा है। कमेटी के तत्वावधान हमसा व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने इस वर्ष अलग-अलग इस वर्ष मई माह में महेंद्रगढ़ में जाकर शिक्षा मंत्री को मांगों के बारे ज्ञापन दिए थे। इसके बाद जिला शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से ज्ञापन भेजे गए। परंतु वादे पूरा करना तो दूर शिक्षा मंत्री ने तालमेल कमेटी से बात तक करना उचित नहीं समझा। शिक्षा मंत्री अपना फर्ज भूल चुके हैं। शिक्षा मंत्री की नैतिक जिम्मेवारी बनती है कि घोषणा पत्र में किए वादों को पूरा कराए। क्योंकि विधानसभा चुनाव के समय वह भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष थे और उनके द्वारा ही घोषणा पत्र तैयार कर जारी किया गया था।

कमेटी 17 दिसंबर को महेंद्रगढ़ स्थित शिक्षा मंत्री के आवास पर विशाल प्रदर्शन का एलान किया है और चेतावनी दी कि यदि सरकार निश्चित तिथि तक वादा पूरा नहीं करती, तो विशाल प्रदर्शन किया जाएगा व अनिश्चित कालीन धरना शुरू किया जाएगा