# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हदी के सर स्कूल में आते शराब पीकर

सिवाहा गांव के सरकारी स्कूल में लाल परी के शौकीन ¨हदी शिक्षक स्कूल समय में भी शराब पीते हैं। छात्राओं का आरोप है कि ¨हदी शिक्षक उनसे घर से दूध, लस्सी व अन्य सामान लाने की डिमांड करते हैं और सामान नहीं लाने पर नहीं पढ़ाने की धमकी देते हैं। वहीं बच्चों से स्कूल में चाय भी बनवाते हैं।

अभिभावकों व छात्राओं की शिकायत पर मामले की जांच के लिए गांव सिवाहा के राजकीय उच्च विद्यालय में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी जींद पूनम चंदा व ब्लॉक समिति जींद की चेयरपर्सन नीलम देवी जांच के लिए पहुंची। दोनों ने स्कूल के स्टाफ से बातचीत की और स्कूल के शौचालयों और मिड डे मील व सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। ग्रामीणों ने शिकायत दी थी कि अध्यापक नरेंद्र हर रोज शराब पीकर स्कूल में आता है और स्कूल के शौचालयों में गंदे अश्लील शब्द लिखे हुए हैं। जिसके कारण छात्राएं शौचालयों में नहीं जा रही। अध्यापक नरेंद्र बच्चों से हर रोज दूध, लस्सी, अमरूद मंगवाता है। न लाने पर कहता है कि मैं नही पढ़ाऊंगा। वह बच्चों से स्कूल में चाय बनवाता है। छठी कक्षा की 11 वर्षीय व अन्य छात्राओं ने बताया कि नरेंद्र सर शराब पीये हुए थे। एक छात्रा ने नाम न लिखने पर कहा कि जब मैं अपनी कापी चैक करवाने अध्यापक नरेंद्र के पास गई तो अध्यापक नरेंद्र ने मुझे बिना किसी कारण थप्पड़ मारा। वह अध्यापक शराब पीकर कक्षा में आता है और हमारे को अनाप शनाप बोलता है। निरीक्षण के दौरान स्कूल में काफी अव्यवस्था मिली और शौचालयों में अश्लील शब्द लिखे हुए थे। निरीक्षण के बाद अधिकारियों ने आरोपी शिक्षक का मेडिकल कराने का निर्देश दिए। बीडीपीओ स्वयं अपनी गाड़ी में शिक्षक का मेडिकल करवाने के लिए दो-तीन ग्रामीणों को भी साथ लेकर गई। मेडिकल करवाने के बाद ही सारे मामले का पता चलेगा।

------------------

शिक्षक शराब पीकर आएंगे, बेटियां कैसे रहेंगी सुरक्षित

ग्रामीण धर्मबीर भनवाला, सुनील भनवाला, राजू ने बताया कि गांव के युवाओं ने नव निर्माण जागरूकता समिति का गठन किया हुआ है। जो कि गांव की देखरेख करती हैं। समिति द्वारा भी अध्यापकों को कई बार स्कूल में अनुशासन व सफाई के बारे में कहा गया है। इतना कहने के बावजूद भी स्कूल में कोई व्यवस्था नहीं है। ग्रामीणों ने कहा कि हम नहीं चाहते कि देश के कोने-कोने के स्कूलों में हो रहे अपराधों की तर्ज पर हमारी बच्चियां भी किसी अपराध का शिकार हो। हम अपनी बच्चियों की सुरक्षा चाहते है और ये तभी संभव है, जब स्कूल में सही स्टाफ होगा। जब अध्यापक ही शिक्षा के मंदिर में शराब पीकर आएंगे, तो वे क्या बच्चों को पढ़ाएंगे, क्या शिक्षा देंगे और क्या सुरक्षा करेंगे।

------------------

सांय को पीता है शराब

खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी पूनम चंदा के सामने अध्यापक नरेंद्र ने कबूला कि वह सांय के समय हर रोज शराब का सेवन करता है, लेकिन दिन में नहीं पीता। अध्यापक नरेंद्र की हरकतों से परेशान होकर ग्रामीणों ने कई बार चेतावनी देते हुए छोड़ भी दिया था। लेकिन इसके बावजूद भी अध्यापक नरेंद्र अपनी हरकतों से बाज नहीं आया और हर रोज स्कूल में शराब पीकर आता रहा। वहीं स्कूल के शौचालयों में अश्लील गंदे शब्द लिखे होने के कारण बेटियां शौचालय में नहीं जाती।

------------------

मिली हैं काफी खामियां

खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी जींद पूनम चंदा ने कहा कि सरकार का प्रावधान है कि अगर किसी कर्मचारी की तबीयत ठीक नहीं है, तो वह छुट्टी लेकर अपने घर आराम कर सकता है। गांव सिवाहा के ग्रामीणों कही शिकायत आई थी कि अध्यापक नरेंद्र स्कूल में शराब पीकर आता है।उसी की तफ्तीश के लिए वह गांव सिवाहा के स्कूल में आई हैं। स्कूल का निरीक्षण किया है, जहां सफाई नाम की कोई व्यवस्था नहीं है। शौचालयों में गंदे अश्लील शब्द लिखे हुए हैं।

---------------

ब्लॉक समिति की चेयरपर्सन नीलम भनवाला ने बताया कि गांव की एकेडमी में बच्चियों ने शिकायत की थी कि एक अध्यापक हर रोज शराब पीकर स्कूल में आता है।हमने स्कूल में जाकर देखा तो उपरोक्त बातें सही पाई गई। अध्यापक नरेंद्र ने शराब पी हुई थी, जिसके लिए उसका मेडिकल करवाया जाएगा और मेडिकल रिपोर्ट आने पर ही उचित कार्रवाई की जाएगी।