News Description
मौसम के बदले मिजाज ने कराया ठंड का एहसास, हल्की बूंदाबांदी से किसान को राहत

सोनीपत : दिसंबर का महीना शुरू होने के बाद भी अब तक ठंड का एहसास लोगों को नहीं हो रहा था। दिनभर अच्छी धूप खिलने के कारण दिन में कई बार गर्म कपड़ों की भी आवश्यकता नहीं पड़ रही थी, लेकिन सोमवार सुबह से बदले मौसम के मिजाज ने लोगों को ठंड का एहसास करा दिया। सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहने के कारण धूप नहीं निकली और दोपहर बाद शुरू हुई बूंदाबांदी ने लोगों को ठंड का एहसास कराया। दूसरी ओर, इस मौसम और हल्की बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं।

सोमवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए थे। बादल छाने के चलते सूर्य देव के दर्शन नहीं हुए। दोपहर के समय बारिश के कुछ छींटे पड़े तो शाम के समय भी काफी देकर तक बूंदाबांदी हुई। बूंदाबांदी से तापमान में कमी आई और मौसम में ठंड बढ़ गई है। दिन का अधिकतम तापमान जहां 22 डिग्री रिकार्ड किया गया, वहीं शाम को बूंदाबांदी के बाद यह गिरकर 18 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। तापमान में गिरावट गेहूं, सरसों व जौ की फसल के लिए फायदेमंद रहेगा। कृषि विशेषज्ञों की माने तो इससे गेहूं की पौध में अच्छी ग्रोथ होगी। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले एक-दो दिनों तक इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान है। कृषि अधिकारियों का कहना है कि यदि इस दौरान बारिश होती है तो यह किसानों के लिए काफी फायदेमंद रहेगा