# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
तापमान गिरा तो सब्जी की फसलों को हो सकता है नुकसान

सोमवारसुबह मौसम ने अचानक करवट बदली। सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। दोपहर बाद रुक-रुक कर बूंदाबांदी होती रही। इससे पिछले कुछ दिनों से बढ़ रही गर्मी कम हुई ठंडक का अहसास होने लगा। पिछले सप्ताह में तापमान बढ़ गया था, लेकिन सोमवार को बादलवाही और बूंदाबांदी से ही अधिकतम तापमान में 6 डिग्री तापमान में गिरावट दर्ज की गई। सोमवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। सुबह साढ़े 8 बजे हल्की बूंदाबांदी हुई। इसके बाद दोपहर एक बजे के बाद रुक-रुक कर बूंदाबांदी हो होती रही रविवार को अधिकतम तापमान 25 डिग्री दर्ज किया गया था वहीं तापमान सोमवार को 19.5 डिग्री के आस-पास रह गया। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आगामी 24 घंटों में पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी लगातार जारी रहेगी जिससे मैदानी इलाकों में भी ठंड और कंपकंपाएगी। मौसम अभी पूरी तरह से साफ होने के आसार कम हैं। बारिश भी हो सकती है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में बारिश अलर्ट भी जारी किया है। 

बरसातसे ठंड बढ़ी, गेहूं उत्पादक किसान खुश 

बलियाला| किसानसंदीप कुमार, वीरेंद्र कुमार, चरणजीत, अमनदीप, कुलवीर आदि किसानों ने बताया कि गेहूं के अच्छे विकास के लिए इस समय बरसात की काफी आवश्यकता थी। बरसात से गेहूं की फसल और हरे चारे की फसल को काफी लाभ मिलेगा। 

} 6दिसंबर23.0

}7दिसंबर 23.2

}8दिसंबर 24.2

}9दिसंबर 26.2

}10दिसंबर 25.1

}11दिसंबर 19.5

पाले से रहे सावधान : बराड़ 

जिलाबागवानी अधिकारी श्रवण बराड़ ने बताया कि दो-तीन लगातार पड़ने वाला पाला भी फसल के लिए घातक साबित हो सकता है। इसलिए बागवानी किसान सावधान रहते हुए अपनी फसलों को पराली, लो टर्नल से घेरकर उसे बचाएं। साथ ही समय-समय पर पानी देते रहे। 

पिछले कुछ दिनों से अलसुबह और शाम के समय जहां ठंड का असर दिखाई दे रहा था वहीं सोमवार को दिन भर आसमान में छाए बादलों हुई हल्की बरसात से मौसम में बदलाव दिखा और दिन भर ठंड का असर रहा।