News Description
व्यवासयिक कुशलता से किसान बनेंगे आर्थिक सक्षम : राजेन्द्र

कृषि और पशुपालन को रोजगार के रूप में बढ़ावा देने के लिए गांव झोझू कलां में ग्रामीण विकास मंडल की बैठक का आयोजन किया गया। संस्था द्वारा गठित जिले के 20 किसान क्लब प्रतिनिधियों व कृषक उत्पादक संघ के सदस्यों को संबोधित करते हुए मंडल अध्यक्ष राजेंद्र कुमार ने कहा कि हमें खेतीहर किसान को व्यवसायी बनाना होगा। किसान को सम्मान तब मिलेगा जब वह आर्थिक रूप से समृद्ध होगा। संपन्नता के लिए केवल परिश्रम नहीं व्यवसायिक कुशलता अपनाने की आवश्यकता है। हम सब मिलकर जैविक खेती का प्रयोग शुरू कर अन्य लोगों के लिए प्रेरक का काम करें। इससे न केवल कृषि को बढ़ावा मिलेगा बल्कि धरती, जल देवता और इंसान की सेहत की रक्षा का चमत्कारिक रूप भी सामने आएगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कादमा ब्रह्माकुमारी सेवा केंद्र प्रभारी वसुधा ने कहा कि ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय माउंट आबू में बंजर भूमि में उत्तम नस्ल के फलों, फूलों का शाश्वत व योगिक खेती से पैदावार करके अनूठी मिसाल कायम कर रहा है। ब्रह्माकुमारी•ा का कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग शाश्वत व योगिक खेती की मुहिम पिछले दो साल से देशभर में फैला रहा है। इस कड़ी में 15 से 19 दिसंबर शांतिवन माउंट आबू में राष्ट्रीय किसान समृद्धि सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। ब्रह्माकुमारी पूजा ने बताया कि ग्रामीण विकास मंडल द्वारा गठित किसान क्लबों के 21 प्रतिनिधियों का एक दल सम्मेलन में भाग लेगा। इस अवसर पर कुब्जा नगर के पूर्व सरपंच दलबीर ¨सह, दयानंद, श्योपाल ¨सह, किसान क्लब प्रतिनिधि आनंद प्रकाश, फूल कुमार, विनोद लांबा, सुमेर गोकल, महेश चागरोड़, प्रकाश आर्य विशेष रूप से मौजूद थे।