# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हरियाणा में दस हजार NHM कर्मचारी बर्खास्त

चंडीगढ़। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की चेतावनी के बावजूद काम पर नहीं लौटे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के करीब 10 हजार अनुबंधित कर्मचारियों को सरकार ने बर्खास्त करने के आदेश दिए हैं। प्रदेश में साढ़े 12 हजार एनएचएम कर्मचारी हैं, जिनमें से ढाई हजार काम पर लौट आए हैं। बाकी कर्मचारियों के अड़ियल रुख को देखते हुए सरकार ने रविवार को उनके साथ दूसरे दौर की वार्ता भी नहीं की। सरकार के निर्देश पर सभी जिलों के सीएमओ ने रविवार शाम से कर्मचारियों को बर्खास्तगी के पत्र जारी करना शुरू कर दिए।

एनएचएम की प्रबंध निदेशक अमनीत पी कुमार ने इसकी पुष्टि की है। हरियाणा में नए सेवा नियम बनाकर एनएचएम कर्मियों को पक्का करने की मांग को लेकर पिछले छह दिनों से यह आंदोलन हो रहे हैं। सरकार ने इन कर्मचारियों की मानदेय बढ़ाने की मांग पहले ही मान ली है। हड़ताल को लेकर एनएचएम कर्मचारियों के दो गुट बने हुए हैं। सुरेंद्र गौतम गुट के करीब ढाई हजार कर्मचारी काम पर लौट आए हैं, जबकि रेहान रजा गुट के कर्मचारियों ने काम पर आने से मना करते हुए हड़ताल जारी रखने का फैसला किया है।

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार को ही हड़ताली कर्मियों को घंटे के भीतर डयूटी पर लौटने के नोटिस थमाने शुरू कर दिए गए थे। मगर अधिकतर कर्मचारी डयूटी पर नहीं आए। शनिवार को हरियाणा एनएचएम कर्मचारी संघ की सरकार से वार्ता बेनतीजा रही। रविवार को अमनीत पी कुमार से दोबारा बातचीत होनी थी, लेकिन कर्मियों के रुख में बदलाव न आने पर इसे स्थगित कर दिया गया।