News Description
प्रधानमंत्री भारत माता तो उनके भाई गुजरात में मां की कर रहे सेवा : अवधेशानंद गिरी महाराज

हिसार : परोपकार ही पुण्य है। यदि धरती पर कुछ सीखने लायक है तो वह परोपकार ही है। आज समाज में सेवा करने वालों की कोई कमी नहीं है। हमारा काम समाज में सेवा करना ही है। यह बात जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज ने कही। वह रविवार को भारत विकास परिषद के तत्वावधान में दिव्यांग पुर्नवास केंद्र व भारत विकास भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत माता की सेवा कर रहे है। उनके भाई पंकज मोदी गुजरात में अपनी मां की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये वृक्ष जैसा जीवन है। इस जीवन को हमें व्यर्थ नहीं गंवाना चाहिए। हमें समाज की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहना चाहिए। महाराज ने कहा कि दिव्यांगता बौद्धिक हो सकती है, शारीरिक हो सकती है। यह तभी ठीक हो सकती है, जब हममें अच्छे विचार आएं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकलांग से दिव्यांग नाम रखकर सम्मान किया है। हमें अपनी संस्कृति को बचाए रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में करीब 40 लाख एनजीओ काम कर रही है। आज भारत विकास परिषद भी सेवा कार्यों में बढ़-चढ़कर भाग ले रही है। हमे जहां भी सेवा करने का मौका मिले, उसे व्यर्थ नहीं गंवाना चाहिए।

वहीं कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में पहुंचे केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि शिक्षा, सर्वश्रेष्ठ सभ्यता और संस्कृति के आधार पर ही भारतवर्ष की विश्व में विश्व गुरु के रूप में पहचान थी, परंतु विदेशियों के शासनकाल के दौरान जो पाश्चात्य संस्कृति उभरी, जिसके कारण हमारी सभ्यता और संस्कृति प्रभावित हुई। भारत विकास परिषद ने पाश्चात्य संस्कृति को खत्म करके प्राचीन सभ्यता और संस्कृति का बढ़ाया है। इसी का परिणाम आज हमारा देश पुन: विश्व गुरु बनने के मार्ग पर अग्रसर है। समारोह की अध्यक्षता भारतीय विकास परिषद के राष्ट्रीय चेयरमैन यशपाल गुप्ता ने की, जबकि विशिष्ट अतिथि के तौर पर गुजरात के सूचना विभाग के उपनिदेशक व प्रधानमंत्री के भाई पंकज मोदी और हिसार लोकसभा क्षेत्र के सांसद दुष्यंत चौटाला ने शिरकत की। भवन का लोकार्पण जूनापीठाधीश्वर आचार्च महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज के सानिध्य में किया गया।

बॉक्स

दिव्यांगों को दी सम्मानजनक पहचान : शुक्ल

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि समाज के शारीरिक रूप से जो विकलांग व्यक्ति हैं, उनके लिए विकलांग शब्द के प्रयोग से उनमें एक हीनभावना घर कर गई थी। उसी को समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकलांगों के लिए दिव्यांग शब्द का प्रयोग करके उन्हें एक सम्मानजनक पहचान दी। जिससे इनमें समानता का संचार हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा विकलांगों को दिए गए दिव्यांग शब्द उनकी दूरदर्शिता का परिचायक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार सबका साथ-सबका विकास कार्यक्रम के तहत दिव्यांग लोगों के लिए बड़े पैमाने पर कार्य योजनाओं को मूरत रूप दे रही है।

बॉक्स

हर व्यक्ति किसी न किसी रूप में अपने अंदर दिव्यांगता छिपाए हुए है : पंकज मोदी

गुजरात के सूचना विभाग के उप निदेशक पंकज मोदी ने कहा कि हर कोई व्यक्ति भले ही शारीरिक रूप से दिव्यांग ना हो, लेकिन हर व्यक्ति किसी न किसी रूप में अपने अंदर दिव्यांगता छिपाए हुए है। वो चाहे वैचारिक, अध्यात्मिक व बौद्धिक रूप में क्यों ना हो, इसलिए हर व्यक्ति अपने अंदर छिपी इस दिव्यांगता को देश व समाज हित में पुण्य कार्य करके अपने को सर्वोत्तम व्यक्ति कहलवा सकता है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति दिव्यांग की सेवा तन, धन व मन किसी भी रूप में कर सकता है।

..

दिव्यांगों के उत्थान में भारत विकास परिषद के कार्य प्रशंसनीय : दुष्यंत चौटाला

दिव्यांगों की मदद करने, उनके इलाज और पुनर्वास के लिए किए जा रहे भारत विभाग परिषद के कार्यों की जितनी प्रशंसा की जाए, उतनी ही कम है। भारत विभाग परिषद दिव्यांगों को एक प्रकार से नया जीवन दे रही है और मैं उनके लिए हर संभव मदद करने को तैयार हूं। यह बात इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे आज भारत विकास परिषद के दिव्यांग पुनर्वास केंद्र के उदघाटन अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।

सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वह भारत विकास परिषद में नया आपरेशन थियेटर स्थापित करने, यहां अनुंसधान कार्य शुरू करने सहित कृत्रिम अंगों के विकास के लिए केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री से मिलेंगे और मंत्रालय से इसकी अनुमति की मांग करेंगे। उन्होंने आह्वान किया कि परिषद के सदस्य कृत्रिम अंगों में मूवमेंट की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की दिशा में काम करें ताकि दिव्यांगों का जीवन स्तर सुधर सके। उन्होंने कहा कि दिव्यांग व्यक्ति की मदद हर व्यक्ति को अपने स्तर पर करनी चाहिए ताकि वे भी हमारे समाज की मुख्य धारा में आत्मविश्सास के साथ काम कर सकें।

बॉक्स

ये रहे मौजूद

इस मौके पर उपाध्यक्ष मांगेराम गुप्ता, संजय गर्ग, शांति देवी अग्रवाल, अध्यक्ष डा. रमेश अग्रवाल, कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र कुच्छल, कोषाध्यक्ष रामनिवास अग्रवाल, एसएल गर्ग, राकेश बंसल, धर्मपाल सैनी,अजय तायल, साधु राम बंसल, मोहन लाल लाहौरिया, जेपी नलवा, अनिल महता, श्याम अग्रवाल, हरिराम जैन, रमेश ¨सगल, जगदीश तोशामिया, चंद्र प्रताप आहूजा, डा.वासुदेव बंसल, सुरेंद्र लाहोरिया, रामनिवास अग्रवाल, केके अरोड़ा, अनुप्मा अग्रवाल, जिया लाल बंसल, हुकूम चंद गोयल, मधु गोयल, मनीष जैन, मनीराम बंसल, एडवोकेट राजेश जैन, मांगेराम गुप्ता, एडवोकेट रमेश बंसल सहित भारत विकास परिषद के पदाधिकारीगण व सदस्य उपस्थित थे।