News Description
धरे गए हत्यारोपी, वारदात कर राजस्थान भाग गए थे

 गुरुग्राम: मूलरूप से उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ निवासी सुंदरलाल की ईंट से वार कर हत्या कर देने के दोनों आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा है। दोनों वारदात को अंजाम देने के बाद रात में मदनपुरी स्थित अपने घर में सोए थे। उन्हें जब यह जानकारी मिली कि पुलिस उनकी स्कूटी के नंबर से उनकी तलाश कर रही है तो वे किशनगढ़ (राजस्थान) चले गए थे। दोनों को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने रविवार को उन्हें ड्यूटी मजिस्ट्रेट के सामने पेशकर एक दिन की रिमांड पर लिया है। वारदात के समय इस्तेमाल की गई स्कूटी भी पुलिस जब्त करेगी। पकड़े गए आरोपियों के नाम धीरज सैनी व जयप्रकाश हैं। दोनों मूल रूप से रेवाड़ी के रहने वाले हैं मगर पंद्रह साल से मदनपुरी में रह रहे थे। पुलिस के मुताबिक दोनों ही नशे के आदी हैं।

गांव भदरी निवासी सुंदरलाल गुरुग्राम में नौकरी कर रहे थे। वह न्यू कालोनी में ही किराए पर रहे थे। उनके चचेरा भाई रवि भी यहां के लक्ष्मी बाजार में रहते थे। बुधवार रात साढ़े नौ बजे वह अपने घर से रवि के साथ उनके घर जा रहे थे। न्यू कॉलोनी पेट्रोल पंप के पास धीरज नशे में धुत स्कूटी पर बैठा हुआ था। जब दोनों बगल से निकले तो धीरज ने उन्हें गाली दी थी। 45 वर्षीय सुंदर लाल ने विरोध किया और गाली देने की वजह पूछी तो युवक ने पार्क में बैठकर शराब पी रहे अपने साथी जयप्रकाश को बुला लिया था। दोनों ने ईंट से वार कर सुंदर की जान ले ली थी। वहीं रवि को भी बुरी तरह से मारा था। वह अभी भी एक प्राइवेट अस्पताल में दाखिल हैं।

हमने स्कूटी नंबर के आधार पर पता लगाया कि स्कूटी धीरज के नाम है। उसके ठिकाने पर गए तो ताला बंद मिला। टोह लेते किशनगढ़ पहुंचे जहां से उसे पकड़ लिया। बाद में दूसरा आरोपी भी पकड़ा गया।