News Description
मूलभूत सुविधाओं को तरस रहा यमुना किनारे बसा उन्हेड़ी गांव

रादौर खंड का उन्हेडी गांव यमुना नदी के किनारे 468 वर्ष से बसा है, लेकिन आज भी यह मूलभूत सुविधाओं से महरूम है। शिक्षा और चिकित्सा सेवाओं की कमी खल रही है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र होने से विकास की दौड़ में यह गांव पिछड़ रहा है। कच्चे रास्ते आज तक पक्के नहीं हो पाए। विधायक भी गांव के विकास को लेकर गंभीर नहीं है।

गांव की कुल आबादी करीब 3500 और कुल मत 1800 है। ग्रामीणों के मुताबिक राजकीय माध्यमिक विद्यालय है, लेकिन अति तंग भवन में चल रहा है। चार आंगनबाड़ी केंद्र हैं, लेकिन अपना भवन एक के भी पास नहीं है। मंदिर में, धर्मशाला में और दो निजी भवनों में चल रही हैं। पंचायत की ओर से कई बार प्रस्ताव डाले गए, लेकिन अपना भवन नहीं मिला। 60 प्रतिशत आबादी शिक्षित है, लेकिन उच्च शिक्षा ग्रहण करने की डगर यहां के बच्चों के लिए काफी मुश्किल है

बाढ़ के कारण से हर वर्ष होने वाले नुकसान कर भरपाई के लिए अतिरिक्त बजट चाहिए, लेकिन सरकार की ओर से बजट मिल नहीं रहा है। कई विकास परियोजनाओं से संबंधित प्रस्ताव डाला हुआ है। जैसे ही सरकार की ओर से वित्तीय सहायता मिलेगी, तुरंत विकास कार्य शुरू करा दिए जाएंगे। गांव में आमदन के साधन सीमित हैं।