News Description
हड़ताल पर डटे एनएचएमकर्मी, आज परीक्षा का दिन

अंबाला शहर: मांगों को लेकर एनएचएम कर्मियों की हड़ताल रविवार को भी जारी रही। हालांकि इस दौरान विभाग के आलाधिकारियों के साथ यूनियन के पदाधिकारियों की लंबे दौर की बैठक चली जोकि सिरे नहीं चढ़ पाई। कोई लिखित आश्वासन नहीं दिया इसीलिए कर्मचारियों ने सोमवार को भी हड़ताल जारी रखने की घोषणा कर दी।

वहीं रविवार को हड़ताली कर्मियों ने पालीटेक्निक चौक के सामने बने पार्क में अपना धरना-प्रदर्शन जारी रखा। दोपहर के समय कर्मचारियों ने जुलूस मार्च निकालकर रोष प्रकट किया। बता दें कि अंबाला में कुल 557 एनएचएम कर्मी कार्यरत हैं। इनमें से करीब 165 कर्मी अपनी ड्यूटी संभाल रहे हैं जबकि करीब 392 कर्मी कागजों में हड़ताल पर चल रहे हैं। इस मौके पर जिला कार्यालय सेक्रेटरी तरसेम, ह¨रदर ¨सह, विजय कुमार शर्मा, एंबुलेंस सेवा से लालचंद, राकेश कुमार, निर्मल और विकास गुप्ता, जगीर ¨सह, दौलत राम एवं एमपीएचई एसोसिएशन प्रधान कांता रानी, राज्य उप प्रधान प्रमोद बाला एवं पाल कौर, प्रीति सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

रविवार को संख्या रही कम, दबाव में कर्मी

बेशक रविवार को कर्मियों ने हड़ताल जारी रखते हुए एकता दिखाने का प्रयास किया लेकिन इन कर्मियों की संख्या कम ही रही। करीब 392 हड़ताली कर्मियों में से धरने के समय करीब 55 सदस्य ही दिखाई दिए। हालांकि प्रधान तरणदीप ने बताया कि रविवार की छुट्टी होने के कारण कर्मियों की संख्या कम है।

जब फैसला लेना केंद्र के हाथ में तो टर्मिनेट राज्य सरकार कैसे कर रही

प्रधान तरणदीप ने बताया कि सरकार कहती है कि कर्मचारियों की मांगों को पूरा करना केंद्र सरकार के हाथ में है तो उन्हें टर्मिनेट करने का काम राज्य सरकार कैसे कर सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार एक ही मामले में दो रूख कैसे अपना सकती है। तरणदीप ने कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती हड़ताल जारी रहेगी।