News Description
आंगनबाड़ी वर्करों ने किया धरना-प्रदर्शन

पलवल: आंगनबाड़ी वर्कर एंड हैल्पर ने सीटू के तत्वावधान में आयोजित महापड़ाव के तहत लघु सचिवालय परिसर में धरना प्रदर्शन किया। अध्यक्षता जिला प्रधान उर्मिला रावत ने किया, जबकि संचालन कमला देवी ने किया।

इस अवसर पर पड़ाव को संबोधित करते हुए सीटू के जिला प्रधान श्रीपाल भाटी ने कहा कि सरकार ने अभी तक आंगनबाड़ी वर्करों व हेल्परों को कर्मचारी का दर्जा नही दिया है। सरकार बच्चों के बचत खाते में सीधा पैसा पहुंचाकर इस परियोजना में बड़ी-बड़ी कंपनियों व ठेकेदारों को शामिल करना चाहती है। उन्होंने मांग की कि आंगनबाड़ी में डब्बा बंद भोजन या कैश ट्रांसफर पर रोक लगाने, आंगनबाड़ी वर्करों को पक्का करने, 45वें भारतीय श्रम सम्मेलन को सिफारिशों को लागू करने, वर्करों को 18 हजार रुपये मासिक वेतनमान देने, ईंधन व किराये की राशि का भुगतान करने की मांग की।

प्रधान उर्मिला रावत ने कहा कि सेंटर पर आने वाले गेंहू व चावल के कट्टों का वजन पूरा नही होता और उसमें कीड़े भी लगे होते हैं। उन्होंने ऐसा राशन बंद कर अच्छा राशन भेजने की मांग की। 

इस दौरान 17 जनवरी को आयोजित हड़ताल में शामिल होने का भी आहवान किया गया।