News Description
इन्हांसमेंट के खिलाफ लामबंद होने लगे सेक्टरवासी

पानीपत : उद्यमियों के बाद सेक्टरवासियों ने इन्हांसमेंट का विरोध शुरू कर दिया है। सेक्टर 7 एसोसिएशन ने ग्रीन पार्क में मीटिंग कर रोष जताया गया। जिस सेक्टरवासियों ने पहली इन्हांसमेंट भर रखी है वहां वर्ष 2009 में 140 रुपये प्रति वर्गगज बनती थी उनको 840 रुपये प्रति वर्गगज, जिस सेक्टर में 2009 में 280 रुपये प्रति वर्गगज बनती थी अब वो 15 प्रतिशत ब्याज लगाकर 1547 रुपये प्रति वर्गगज के हिसाब से नोटिस भेज दिए। 31 जनवरी 2018 तक समाधान न होने पर संघर्ष करने का फैसला लिया।

पानी व सीवर के चार गुणा रेट बढ़ाकर सरेआम लूटने का काम किया जा रहा है। उन्होंने विभाग से कर्ज नहीं ले रखा है, क्योंकि कर्ज पर ही ब्याज लगाया जा सकता है। अगर इन्हॉसमेंट, पानी, सीवर के रेट व मूलभूत सुविधाओं की तरफ इसी तरह अनदेखी जारी रही तो सेक्टर वासी 31 जनवरी 2018 के बाद संघर्ष का रास्ता अपनाने पर मजबूर हो जाएंगे, जिसकी जिम्मेदारी विभाग और प्रशासन की होगी।

हिसार के सेक्टर 1-4 और 9-11 में विभाग ने गलत केलकुलेशन करके 187 करोड़ के नोटिस दिए थे। सेक्टर वासियों ने इन्हांसमेंट के खिलाफ लोवर कोर्ट में केस किया था। कोर्ट ने गलत केलकुलेशन और रिहायशी पर कामर्शियल एरिया शामिल करने और ब्याज पर ब्याज को गलत ठहराया। समय पर नोटिस नहीं दिया गया। हमारे यहां भी यही हालात हैं। पानीपत के सभी सेक्टरवासी इस अन्याय के खिलाफ हाईकोर्ट में जाएंगे।