News Description
बनभौरी माता मंदिर की सरकारीकरण मंजूर नहीं

संवाद सहयोगी, कलायत: बनभौरी माता मंदिर के सरकारीकरण के विरोध में ब्राह्मण समाज का गुस्सा ठंडा होने का नाम नहीं ले रहा। प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में इस मुद्दे को लेकर समाज लामबंद हो रहा है। इस कड़ी में बृहस्पवितार को श्री परशुराम इंटरनैशनल बिग्रेड हरियाणा तत्वाधान में समाज के लोगों ने कलायत में प्रदर्शन किया। इसके उपरांत मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम एसडीएम जगदीप ¨सह को ज्ञापन भी सौंपा। ब्राह्मणीवाला गांव के सरपंच राजकुमार शर्मा, पवन शर्मा, श्याम लाल बात्ता, रामदिया शर्माऔर दूसरे प्रतिनिधियों ने कहा कि मां बनभौरी धाम को विकसित करने में ब्राह्मण समाज ने दिन-रात मेहनत की। इस दिशा में आम आदमी ने उनकी हाथ बढ़ाकर मदद भी की, लेकिन सरकार ने सहायता से हमेशा हाथ पीछे रखे। बावजूद इसके केबिनेट द्वारा मंदिर सरकारीकरण का निर्णय पूर्णत गलत है। धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाली इस नीति को कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा।

वर्तमान सरकार शायद भूल गई है कि कांग्रेस राज में भी इस प्रकार के जन विरोधी निर्णय लेने का प्रयास किया गया था। इस मुद्दे पर सरकार को मुंह की खानी पड़ी थी। भाजपा सरकार भी गलत नीतियां अपनाने की भूल न करे। यदि समय रहते सरकार ने अपने निर्णय को वापस नहीं लिया तो ब्राह्मण समाज आरपार की लड़ाई लड़ने से पीछे नहीं हटेगा।