News Description
शिव महा पुराण कथा का आयोजन श्री अमरेश्वर महादेव परमार्थ समिति द्वारा किया गया

सिद्ध पीठ हनुमान मंदिर में साप्ताहिक  शिव महा पुराण कथा का आयोजन  अमरेश्वर महादेव परमार्थ समिति द्वारा किया गया। जिसमे कथा प्रवाचिका युगविभूति विदुषी ऋचा गोस्वामी ने तीसरे दिन अपने मुखारविंद से श्रद्धालुओं को प्रवचन से मन्त्रमुग्ध कर दिया। जिसमे उन्होंने कहाकि भगवान आशुतोष शंकर की दिव्या लीला में उनकी भक्त वत्सलता सबसे अधिक आकर्षित करती है। शीघ्र संतुष्ट होने वाले भगवान महादेव ने शिवपुराण के कथा अनुसार अपने मंदिर में प्रकाश करने वाले चोर को कुबेर बना दिया था । घंटा चुराने आए हुए चोर को अपने ऊपर चढ़ा देख भोले अत्यधिक प्रसन्न हो गए। उसे धर्म,अर्थ ,काम और मोक्ष प्रदान कर दिया। कंदर्प के मद का मर्दन करने वाले भगवान शंकर इस जगत के आदि और अंत है। वह सत्यस्वरूप है। उन्होंने कहाकि उनके साकार सकल रूप में मूर्ति स्वरुप  पूजन विधान कहा गया है व निराकार निष्कलरूप में शिवलिंग स्वरुप पूजन विधान शास्त्रों द्वारा कहा गया है। जो पांच लाख बार महाम्रत्युन्जय मन्त्र का जाप कर लेते है वो शिव जी साक्षात् दर्शन पा  लेते है। और जो पांच करोड़ बार मन्त्र का  जाप कर लेता है वः स्वय शिवस्वरूप हो जाता है। इस अवसर पर मंदिर के प्रधान राजेश भाटिया ,मंदिर के चैयरमेन संजय शर्मा,संजय खत्री,तिलक भाटिया,राकेश खन्ना,वरुण ग्रोवर,सुनील ,विकास भाटिया ,राजेश रतड़ा,विजय अरोड़ा, सुन्दर बजाज ,रवीन्द्र गुलाटी, रिंकल भाटिया ,सतीश बँगा ,प्रेम बब्बर मौजूद  थे । अंत में युगविभूति विदुषी ऋचा गोस्वामी जी ने बताया की कल दिनांक 7 दिसंबर 2017 को साय 5 बजे से 8 बजे तक  शिव पार्वती का विवहा का आयोजन किया जाएगा।