News Description
खुल गया आटो मार्केट का टेंडर, 14 फीसद अधिक रेट आने पर चंडीगढ़ भेजी फाइल

बहादुरगढ़:शहर के सेक्टर 12 में करीब 14 एकड़ में प्रस्तावित आटो मार्केट को विकसित करने के लिए हुडा की ओर से लगाया गया टेडर खुल गया है। टेडर में सबसे कम रेट एस्टीमेट से 14 फीसद अधिक रेट वाली एजेंसी के पाए गए है। हालाकि अब तक कम रेट वाली एजेंसी को वर्क आर्डर नहीं दिया गया है। एस्टीमेट से 14 फीसद अधिक रेट आने की वजह से टेडर की फाइल स्वीकृति के लिए चंडीगढ़ हुडा के मुख्यालय में भेजी गई है। फाइल को स्वीकृति मिलने के बाद ही एजेंसी को वर्क आर्डर दिया जाएगा। हुडा अधिकारियों की मानें तो टेडर की स्वीकृति और उसके आवंटन के बाद वर्क आर्डर की प्रक्रिया बहुत जल्द ही पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद मार्केट को विकसित करने की प्रक्रिया अमन में लाई जाएगी। उधर हुडा के स्थानीय अधिकारियों ने मार्केट के रेट फिक्स करने की फाइल चंडीगढ़ भेज रखी है। जल्द ही रेट फिक्स होने के बाद मार्केट में दुकानों की आवंटन प्रक्रिया ड्रा के माध्यम से की जाएगी।

 
 

 

दरअसल, मार्केट का लेआउट प्लान पहले ही पास हो चुका है। इसी प्लान के मुताबिक मार्केट को विकसित किया जाएगा। इसमें सीवर, पानी की लाइन बिछाई जाएंगी तथा सड़क व पार्किग की व्यवस्था की जाएगी। इसी के लिए हुडा के कार्यकारी अभियंता केके श्योकंद की ओर से पिछले दिनों 388 लाख रुपये का एस्टीमेट बनाया था, जिससे प्रशासनिक स्वीकृति के लिए हुडा के मुख्य प्रशासक को भेजा गया था। मुख्य प्रशासक ने इस एस्टीमेट को प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के बाद केस दोबारा से तकनीकी स्वीकृति के लिए भेजा गया था, मगर तकनीकी स्वीकृति में बजट कम हो गया था और उसके बाद ही ढाई करोड़ का टेडर लगाया था। अब टेडर खुल गया है।

यूनियन व एसोसिएशन के सदस्यों ने जताई खुशी:

आटो मोबाइल एसोसिएशन के प्रधान रोहताश डागर, महासचिव गजेंद्र सागवान, कोषाध्यक्ष रवींद्र गुप्ता, चेयरमैन राजेंद्र अरोड़ा, जयप्रकाश, अश्विनी, कुलदीप मिस्त्री, प्रीतम और आटो मार्केट यूनियन के प्रधान पप्पू दलाल व डीसी सैनी ने आटो मार्केट के टेडर खुल जाने पर प्रसन्नता जाहिर की है। उन्हे उम्मीद है कि अब बहुत जल्द ही टेडर अलाट हो जाएगा और यहा पर काम शुरू हो जाएगा।

खुल गया है टेडर, स्वीकृति के लिए चंडीगढ़ भेज दी गई फाइल: श्योकंद

इस बारे में हुडा के कार्यकारी अभियंता केके श्योकंद का कहना है कि आटो मार्केट को विकसित करने के लिए लगाया गया टेडर खुल गया है। सबसे कम रेट जिस एजेंसी के मिले है वो रेट एस्टीमेट राशि से 14 फीसद अधिक है। इसीलिए टेडर को स्वीकृति देने के लिए फाइल चंडीगढ़ भेजी गई है। यह स्वीकृति मिलने पर जल्द ही टेडर आवंटन की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।