News Description
छात्रों और शिक्षकों में भावनात्मक संबंध होना जरूरी : डॉ. यादव

कुरुक्षेत्र :विद्यार्थियों और शिक्षकों में भावनात्मक संबंध होना चाहिए, तभी वह जाने के बाद भी अपने महाविद्यालय को याद रखेगा। पूर्व छात्र मौजूदा छात्रों को सही दिशा प्रदान करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्हें आगे आकर अपने अनुभवों को साझा करना होगा। इस तरह के कार्यक्रमों से भूतपूर्व छात्रों के अनुभवों से वर्तमान विद्यार्थी लाभान्वित होते हैं। यह बातें कुवि के डीन ऑफ एजुकेशन डॉ. राजेंद्र यादव ने पूर्व छात्र मिलन समारोह में कही।

कॉलेज के भूतपूर्व छात्रों ने अपने अनुभवों को साझा किया। कार्यक्रम में प्राचार्या डॉ. अमीषा ¨सह ने सभी का धन्यवाद किया। इस अवसर पर डॉ. संगीता अहलावत, डॉ. डीके जोशी, डॉ. राज मलिक, डॉ. रीटा चोपड़ा, डॉ. राजवीर ¨सह, डॉ. डीवी शर्मा, डॉ. मधुर गर्ग, डॉ. वीके गुप्ता, डॉ. कमलेश संधु, डॉ. हरीश कुमार, डॉ. ¨पकी मान, डॉ. शर्मिला आदि मौजूद रहे।