News Description
एनडीआरएफ से जाना प्राकृतिक आपदा में कैसे करें मदद

प्राकृतिकआपदा में फंसे लोगों की जान बचाने का प्रशिक्षण झज्जर से जुड़े एनजीओ सिक्स सिग्ता हेल्थ केयर के वालंटियर्स ने एनडीआरएफ यानी नेशनल डिजायर रिस्पांस फोर्स के साथ मिलकर लिया। इसके लिए बठिंडा में 1 से 4 दिसंबर तक ज्वाइंट एक्सरसाइज कैंप लगाया गया। हरियाणा में ये पहला मौका है तब प्राकृतिक आपदा के सेवा कार्य में लगी किसी एनजीओ ने एनडीआरएफ के साथ मिलकर ये वर्कशॉप की हो। 

अमरनाथ बाढ़ में सबसे पहले पहुंचा था संगठन 

सिक्ससिग्मा एनजीओ के वालंटियर वर्ष 2009 में अमरनाथ में आई बाढ़ क्षेत्र में सबसे पहले पहुंचकर प्राकृतिक आपदा में फंसे लोगों की जान बचाई। अमरनाथ में सेना के बाद सेवा देने वाली यही टीम पहुंची,जिसके बाद ये एनजीओ चर्चा में रही। अब तक इससे जुड़े वालंटियर केदारनाथ बाढ़ नेपाल भूकंप में सेवा कैंप लगाकर लोगों की जान बचा चुकी है। कैलाश मानसरोवर यात्रा पर भी कैंप लगाते हैं। 

2009 में बना था सिक्स सिग्मा एनजीओ 

खरहरगांव निवासी डॉ1 प्रदीप भारद्वाज ने सेना में कार्यरत रहे अपने पिता रिटायर्ड कैप्टन रामकिशन भारद्वाज की प्रेरणा से वर्ष 2009 में एनजीओ सिक्स सिगमा हेल्थ केयर का गठन किया था। इसका मकसद देश में आने वाली प्राकृतिक आपदा में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने और उन्हें मौके पर ही जीवन रोधी मेडिकल सर्विस देना रहा। इस एनजीओ से देश भर के 100 वालंटियर जुड़े हैं। 

50-50 के ग्रुप में किया अभ्यास 

ज्वाइंटएक्सरसाइज में सिक्स सिग्मा की ओर से 50 वालंटियर और एनडीआरएफ से 50 अफसर जवान मौजूद रहे। इस मौके पर एनडीआरएफ के डीजी आईपीएस संजय कुमार सिक्स सिग्मा के सीईओ डा. प्रदीप भारद्वाज की अगुवाई में बचाव कार्य की तकनीकों को जाना।