News Description
राजकीय सम्मान के साथ हुआ जवान का अंतिम संस्कार

सरस्वती नगर : अरुणाचल प्रदेश में आइटीबीपी के हेड कांस्टेबल गांव सारन निवासी 47 साल के पवन कुमार हादसे का शिकार हो गए। जबकि उनके बाकि साथी भागने में कामयाब रहे। मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। आइटीबीपी के निरीक्षक रणवीर ¨सह, एएसआइ रामपाल यहां पहुंचे।

हलका विधायक श्याम ¨सह राणा, नायब तहसीलदार जोधाराम, डीएसपी रणधीर ¨सह, एसएचओ छप्पर दीदार ¨सह, पूर्व विधायक बीएल सैनी शहीद को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। श्याम ¨सह राणा ने सरकार की ओर से शहीद के परिवार को 11 लाख रुपये देने की घोषणा की। आइटीबीपी की ओर से अधिकारियों ने परिवार को संस्कार व अन्य कार्यों के लिए 16000 दिए। शहीद अपने पीछे अपनी पत्नी, एक पुत्र व पुत्री को छोड़ गए।

पवन कुमार 20 अप्रैल 1992 में आइटीबीपी में भर्ती हुआ था। अब उसकी ड्यूटी अरुणाचल प्रदेश में थी। रात करीब 2:30 बजे वह अन्य 4 जवानों के साथ था। कि अचानक उस जंगल की पोस्ट पर जंगली हाथी आ गया। 4 जवान तो भागने में कामयाब हो गए लेकिन पवन कुमार को हाथी ने अपनी सूंड में पकड़ कर दबा लिया । वहां पास के गांव के दो व्यक्तियों को भी यह हाथी पहले मार चुका है।