News Description
रोडवेज ड्राइवर की भर्तियां, M.com और MA पास भी पहुंच रहे टेस्ट देने

हिसार. बस ड्राइवर के लिए दसवीं पास की योग्यता चाहिए, मगर एमए और एमकॉम पास तक अभ्यर्थी ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए पहुंच रहे हैं। मंगलवार को रोडवेज की वर्कशॉप में ड्राइविंग टेस्ट देने आए दस प्रतिशत अभ्यर्थी ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट थे। वैसे तो रोडवेज के विज्ञापन में चा उल्लेखनीय है कि रोडवेज में चालक भर्ती के लिए प्रदेशभर से 2038 पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

- यहां ड्राइविंग टेस्ट 15 दिसम्बर तक चलेंगे और रोजाना 60 अभ्यार्थियों के ड्राइविंग टेस्ट लिए जाएंगे।

- रोडवेज कार्यशाला में अावेदन करने वाले बस चलाकर दिखाएंगे। तय समय सीमा में ड्राइविंग के दौरान विफल रहने पर बाहर कर दिए जाएंगे।

- 8 अंक वाले डिजाइन से बस को फ्रंट और बैक में चलाकर दिखाना होगा। जिग-जैक और वाशिंग यार्ड में बस को बैक कर दिखाना होगा।

- सभी विधाओं में सफल रहने वाले अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा देनी होगी।

अभ्यर्थी थे बीए-एमए
- मंगलवार को कुल 59 लोगों ने ड्राइविंग टेस्ट दिया। इनमें 6 अभ्यर्थी ग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट थे। ड्राइविंग के लिए आवेदन करने वालों में गोबिंद एमकॉम, सुभाष बीए-एमए, संदीप कुमार, अनिल कुमार, 
प्रवीण कुमार और देवेंद्र कुमार बीए पास अभ्यर्थी टेस्ट के लिए आए थे।

सीसीटीवी कैमरे में कैद ड्राइविंग टेस्ट
- युवाओं द्वारा बस चलाने की प्रक्रिया को सीसीटीवी में कैद किया जा रहा है। रोजाना दो फोटोग्राफर पूरी प्रक्रिया को कैमरे में कैद करते हैं।

- इसके अलावा जीएम, टीएम, रोडवेज के तकनीकी अधिकारी और कर्मचारी चयन बोर्ड के अधिकारी वहां बैठते हैं। चयन बोर्ड के अधिकारी आवेदन पत्रों की जांच करने का काम कर रहे हैं, ताकि अभ्यर्थी किसी तरह की जालसाजी न कर सकें।लकों के लिए शैक्षणिक योग्यता दसवीं पास रखी गई है, लेकिन एम कॉम, एमए-बीए, तथा ग्रेजुएट स्तर के अभ्यर्थी मैट्रिक पास शैक्षिक योग्यता वाले टेस्ट देने पहुंचे।