News Description
गन्ने की खरीद न होने पर किसानों ने दिया धरना

हथीन : शुगर मिल की खरीद शुरू हो चुकी है, लेकिन मिल द्वारा संचालित गन्ना खरीद केन्द्र मंडकौला पर आज तक खरीद शुरू न किए जाने के विरोध में गन्ना उत्पादक किसानों ने धरना देकर विरोध जताया। किसानों का कहना था कि क्षेत्र का सबसे बड़ा केंद्र मंडकौला में है, लेकिन खरीद शुरू नहीं की। किसानों के धरने के बाद पहुंचे अधिकारियों ने गन्ना खरीदने का आश्वासन दिया, तब जाकर किसान माने।

मंडकौला व आस पास के किसानों का कहना था कि तीन नवंबर से गन्ने की पिराई शुरू हो चुकी है। जिले में गन्ने की खरीद भी शुरू हो चुकी है। लेकिन मंडकौला क्षेत्र में अभी तक किसानों के गन्ने को नहीं लिया जा रहा। गन्ना प्रबंधक भेदभावपूर्ण नीति के चलते के चलते यहां पर खरीद शुरू नहीं कर रहे। जिससे किसानों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। किसानों का कहना था कि जिला में गन्ने की तीन किस्म पैदा होती हैं जिनमें अगेती, मध्यम व पछेती किस्में शामिल हैं। तथा इनके मूल्य में प्रति ¨क्वटल पांच-पांच रूपये का अंतर है।

मंडकौला क्षेत्र में ज्यादातर मध्यम किस्म के गन्ना की पैदावार होती है तथा मिल को उचित अनुपात के हिसाब से सभी किसानों का गन्ना खरीदना था ऐसा न होने से किसान मायूस हैं।

 
 

धरने पर बैठे किसानों का समझाने के लिए निरीक्षक खेम चंद व अन्य अधिकारी पहुंचे। उन्होंने 20 दिसंबर से तक एक हजार ¨क्वटल तथा 20 के बाद दो हजार ¨क्वटल गन्ना खरीदने का आश्वासन दिया।