News Description
बादल छाये रहने से तापमान गिरा, ठंड से गेहूं का अधिक होगा फुटाव

 पानीपत : आसमान में बादल छाए रहने से ठंड बढ़ गई। मंगलवार को न के बराबर सूर्य देव के दर्शन हुए। ठंड से फसलों को फायदा होगा। गेहूं का अधिक फुटाव होगा, जिससे पैदावार में बढ़ोतरी होगी। बूंदाबादी होने की संभावना है। ऐसे में किसान विशेषज्ञों की सलाह पर फसलों की सिंचाई करें।

दिसंबर का पहला सप्ताह लगभग बीतने वाला है। अभी तक दिन के समय तापमान सामान्य से दो-तीन डिग्री सेल्सियस अधिक चल रहा है, जबकि रात को ठीकठाक ठंड हो रही है। दिन-रात के तापमान में अधिक अंतर था। पिछले दो दिनों में मौसम में बदलाव आया है। दिन में बादल छाए रहते थे, जिससे सूरज कम ही दिखाई देते हैं। मंगलवार सुबह से लेकर शाम बादल छाये रहे। इससे तापमान 22-23 से गिरकर 19-20 डिग्री सेल्सियस रह गया है। रात के तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। हालांकि ठंड बढ़ने से राहगीरों को परेशानी हो रही है लेकिन फसलों के लिए फायदेमंद है।

विशेषज्ञों के मुताबिक ठंड होने से गेहूं की बढ़वार रुक जाएगी और फुटाव अधिक होगा यानी कि पौधों की संख्या अधिक होगी, जिससे पैदावार अच्छी होगी। आगामी दिनों दो दिनों में बूंदाबांदी होने की संभावना है। अगर फसलों की सिंचाई करनी तो दो दिन इंतजार करें। या फिर विशेषज्ञों की सलाह पर सिंचाई करनी चाहिए।