# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
कुलां को उपतहसील का दर्जा मिले दो साल बीते कार्यालय के लिए नहीं हो पाई जमीन अधिग्रहित

कुलांउप तहसील कार्यालय के भवन निर्माण को लेकर सीएम घोषणा के दो साल से अधिक समय बीत जाने बाद भी भूमि अधिग्रहण का काम अधर में लटका हुआ है। इसे लेकर नायब तहसीलदार तीन बार जगह का प्रस्ताव भेजा चुके हैं। 

कुलां को 5 मार्च 2014 को उपतहसील का दर्जा दिया गया था। उसके बाद से यहां उप तहसील कार्यालय शुरू कर दिया गया। पटवार खाना कुलां के दो कमरों में अस्थाई रूप से कार्यालय खोला गया। स्थाई कार्यालय के निर्माण लिए 30 मई 2015 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने टोहाना जनसभा में घोषणा की थी। नए भवन के निर्माण का काम तो दूर दो साल से अधिक समय में इसके लिए भूमि अधिग्रहण का काम सिरे नहीं चढ़ पाया है। 

भवन निर्माण करने की प्रक्रिया के तहत तीन बार उच्च अधिकारियों के पास विभिन्न जगहों का प्रस्ताव भेजा जा चुका है। पहला प्रस्ताव चार एकड़ भूमि अधिग्रहण का टोहाना रोड पर दिनांक 8 अक्टूबर 2015 को भेजा गया। यह प्रस्ताव चंडीगढ़ से यह कह कर रद्द कर दिया गया कि प्राइवेट भूमि की जगह पर ग्राम पंचायत कुलां की पंचायती भूमि को मुफ्त अधिग्रहण करने का प्रस्ताव भेजा जाए। इस हिदायत पर दूसरा प्रस्ताव दिनांक 16 अगस्त 2016 को ग्राम पंचायत कुलां की पंचायती जमीन का नक्शा बना कर भेजा गया। 

इस प्रस्ताव को यह कह कर रद्द कर दिया कि ग्राम पंचायत की भूमि कुलां चौक से तीन किलो मीटर दूर इंदाछुई रोड से कच्चे रास्ते पर होने से उप तहसील कार्यालय के लिए उपयुक्त नहीं है। फिर निर्देश दिए गए कि कुलां चौक के पास ही एक से दो एकड़ तक भूमि अधिग्रहण की जाए। इसके लिए अपनी भूमि संयम अधिग्रहण करने वाले किसानों को ऑफर दी गई। एक किसान अमरजीत सिंह ने आवेदन कर पटवार खाना के पीछे लगती एक एकड़ 13 मरले भूमि उपतहसील कार्यालय के लिए अधिग्रहण करवाने का आवेदन किया। इस पर कार्यवाही करते हुए उक्त किसान की भूमि का नक्शा बना कर तीसरा प्रस्ताव 12 अक्टूबर 2017 भेजा गया। इस प्रस्ताव पर अधिकारियों ने इसके डीसी रेट का लगाने के लिए उप तहसील कुलां कार्यालय को लेटर भेजा। इसका जबाव देते हुए नायब तहसीलदार कुलां भजनदास कंबोज ने 28 नवंबर 2017 को एक एकड़ 13 मरले भूमि का प्रति एकड़ डीसी रेट 28 लाख 80 हजार के हिसाब से 31 लाख 14 हजार रुपये बना कर भेजा गया है। अब देखना यह है कि यह प्रस्ताव मंजूर होगा या नहीं।