# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
बस चालक भर्ती होने आए 54 में से 34 फेल, 8 कैमरों की निगरानी में होंगे टेस्ट

परिवहन विभाग में ड्राइवराें के लिए भर्ती प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो गई। प्रदेश में बनाए गए 16 सेंटरों में शामिल रोहतक जिले के न्यू बस स्टैंड की वर्कशॉप में सुबह 9 बजे 60 उम्मीदवार ड्राइविंग दक्षता टेस्ट के लिए एकत्रित हुए।

महाप्रबंधक राहुल जैन की अगुवाई में गठित चार सदस्यीय कमेटी ने वर्कशॉप के अंदर लगे 8 सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में टेस्ट लेना शुरू किया। दो बसों के जरिये उम्मीदवारों काे पहले चरण में रिवर्स डग टेस्ट, दूसरे चरण में रिवर्स एंड फारवर्ड में शेप टेस्ट तीसरे चरण में जिग जैग टेस्ट रोड टेस्ट लिए जाने की प्रक्रिया अपनाई गई।

देर शाम 8 बजे तक चले टेस्ट में 60 में से 54 उम्मीदवारों ने डग टेस्ट में हिस्सा लिया। रिवर्स गियर में डग टेस्ट देने में महज 20 उम्मीदवार ही सफल हो सके, जबकि 34 असफल रहे महाप्रबंधक राहुल जैन ने बताया कि यह टेस्ट प्रक्रिया नौ दिसंबर 14, 15 दिसंबर तक लगातार जारी रहेगी, इसमें रोजाना 60 उम्मीदवारों के टेस्ट लिए जाएंगे। रोहतक जिले में बने सेंटर में कुल 702 उम्मीदवारों की ड्राइविंग टेस्ट दक्षता का आकलन किया जाएगा।उन्होंने बताया कि टेस्ट प्रक्रिया में पूरी तरह से पारदर्शिता बनी रहे, इसके लिए हमने पूरे वर्कशॉप परिसर में 8 सीसीटीवी कैमरे लगवाकर प्रत्येक उम्मीदवार द्वारा दी गई परीक्षा की रिकॉर्डिंग कराई है ताकि कोई भी उम्मीदवार भविष्य में पक्षपात किए जाने के आरोप लगा सके।

 गौरतलब है कि प्रदेश में रोडवेज बसें चालकों की कमी से खड़ी रहने के कारण प्रदेश सरकार द्वारा भर्ती तेजी से की जा रही है। लिखित परीक्षा पास करने वाले पात्रों के ड्राइविंग टेस्ट लिए जा रहे हैं।