# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
महिलाओं के अधिकारों संबंधित कानूनी जागरूकता शिविर आयोजित

 पलवल : जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के तत्वावधान में महिलाओं के अधिकारों से संबंधित विशेष कानूनी जागरूकता शिविर का आयोजन पैनल अधिवक्ता जगत ¨सह रावत, सुंदर लाल व इंद्रजीत पीएलवी द्वारा राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कैंप पलवल में किया गया। शिविर की अध्यक्षता प्रधानाचार्य प्रमोद पाल ने की।

जगत  रावत ने कहा कि कार्यस्थल पर महिला के साथ हुए उत्पीड़न, घरेलू ¨हसा, कन्या भ्रूण हत्या व ¨लग जांच के लिए महिला को विवश करने, दहेज के लिए प्रताड़ित करने, यौन शोषण आदि के खिलाफ सुनवाई का अधिकार, समान वेतन, मातृत्व लाभ, मुफ्त कानूनी सहायता, भरण - पोषण पाने के अधिकार व यौन शोषण के मामलों में पहचान की गोपनीयता, रात में गिरफ्तारी न होने, महिला की गरिमा और शालीनता बनाए रखने, बाल विवाह को निरस्त करवाने तथा संपत्ति में हक पाने के संवैधानिक अधिकार महिलाओं को अलग-अलग कानूनों के तहत प्राप्त हैं।

संविधान के तहत नारी की गरिमा बनाए रखना व नारी के विरूद्ध सामाजिक कुप्रथाओं का परित्याग करना प्रत्येक नागरिक का मौलिक कर्तव्य है। उपरोक्त अपराधों में दोषी पाए जाने पर सजा व जुर्माने से दंडित किया जा सकता है।