News Description
ट्यूशन से लौट रहे दो छात्रों ने भाई की बाइक पर ली थी लिफ्ट, फिर ऐसे हुआ हादसा

हिसार।बरवाला के गांव बालक में शराब ठेके के निकट सोमवार की शाम को ट्यूशन पढ़कर लौट रहे दसवीं के दो छात्रों सहित तीन चचेरे भाइयों को तेज रफ्तार क्रूजर गाड़ी ने टक्कर मार दी। हादसा इतना भीषण था कि बाइक के परखच्चे उड़ गए और पुर्जे काफी दूर तक बिखर गए। हादसे में दो की मौके पर मौके पर ही मौत हो गई, तीसरे युवक ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। हादसे के बाद चालक क्रूजर को लेकर मौके से भाग गया।

ट्यूशन पढ़कर लौट रहे थे

- बालक गांव की ढाणी में रहने वाले जय प्रकाश ने बताया कि 16 वर्षीय अमन एवं उसका चचेरा भाई 18 वर्षीय सुशील दसवीं में पढ़ते थे। उनका चचेरा भाई 20 वर्षीय सुरेंद्र ट्रक ड्राइवर थो। दोनों भाई गांव में ट्यूशन पढ़कर ढाणी में लौट रहे थे। रास्ते में सुरेंद्र बाइक पर सवार होकर दोनों भाइयों को मिल गया।

- घर जल्दी पहुंचने के लिए दोनों भाई सुरेंद्र के साथ बाइक पर सवार हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बाइक जैसे ही गांव के शराब के ठेके सामने पहुंची तभी तेज गति से रही एक क्रूजर गाड़ी तीनों चचेरे भाइयों की बाइक को टक्कर मारती हुई चली गई।

- हादसा इतना भीषण था कि टक्कर से बाइक के परखच्चे उड़ गए। इसके बाद तीनों भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद चालक क्रूजर गाड़ी लेकर भाग गया। हादसे में अमन एवं सुरेंद्र की मौके पर मौत हो गई। सुशील ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया।

इकलौते बेटे की हुई मौत


- हादसे का शिकार हुआ सुशील अपने पिता की इकलौती संतान था। इस दुर्घटना ने सुरेश के परिवार का चिराग बुझा दिया। हादसे की भनक से सुशील के अलावा अन्य परिवारों में मातम छा गया। तीनों के परिजन मौके पर पहुंच गए। सुशील की मां बेटे के शव को देखकर बार-बार बेहोशी की हालत में पहुंच रही थी। परिवार के लोग उसे संभालने में जुटे थे। 
- हादसे में एक साथ तीन बच्चों की मौत से परिवार के अलावा गांव में मातम छा गया। ग्रामीणों की आंखें नम थीं। हर किसी के चेहरे पर क्रूजर चालक के प्रति गुस्सा था। पुलिस ने पहुंचकर स्थिति को संभाला