# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
सब्जियों के दामों ने बिगड़ा रसोई बजट

 पानीपत :सब्जियों के भाव में तेजी बरकरार है। सर्दियों में हरी सब्जी का उत्पादन अधिक होने के कारण सब्जियों की दामों में गिरावट का रूख रहता है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुई हा। हरी सब्जियों के साथ-साथ टमाटर प्याज के भाव में टूटने का नाम नहीं ले रहे।

सब्जी के महंगे दामों से रसोई का बजट बिगड़ रहा है। सर्दी के मौसम में मटर के साथ-साथ प्याज, मेथी, पालक, सरसों के साग की अच्छी मांग रहती है। लेकिन सरसों का साग, बथुआ 50 से 60 रुपये के बीच बिक रहा है। हरा मटर लोकल 60 रुपये प्रतिकिलो ग्राम तथा हिमाचल से आने वाला मटर 90-100 रुपये बिक रहा है। सब्जी मंडी के आढ़ती मुकेश, रवि, प्रेम ने बताया कि सब्जी के दाम तेज चल रही है। मटर के आवक बढ़ने के बाद भाव में गिरावट आएगी। गाजर मूली के भाव 20 से 30 रुपये चल रहे हैं। सबसे अधिक भाव प्याज तथा टमाटर के चल रहे हैं। पिछले दो माह से टमाटर प्याज के भाव तेज चल रहे हैं।

न्यू हाउसिंग बोर्ड की भावना बंसल, मंजू गुप्ता का कहना है कि हरी सब्जियों की भाव इन दिनों सामान्य रहते हैं, लेकिन इस बार भाव टूटने का नाम नहीं ले रहे। जिससे रसोई का बजट बिगड़ रहा है। इसे देखते हुए कम सब्जी में काम चलाना पड़ रहा है।

वहीं सब्जी विक्रेताओं ने बताया कि जो ग्राहक पहले एक किलो सब्जी लेता था अब कम सब्जी खरीदता है।