# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
हरियाणा में अनुबंध पर भर्तियों में भी साक्षात्कार खत्म

चंडीगढ़। सरकारी विभागों में निचले स्तर की भर्तियों में साक्षात्कार खत्म करने के बाद अब प्रदेश सरकार ने अनुबंध आधार की नियुक्तियों में भी इंटरव्यू सिस्टम खत्म कर दिया है। इन नियुक्तियों की पूरी पावर विभागाध्यक्षों के पास होगी। इसके लिए आउटसोर्सिंग पॉलिसी-2 में बदलाव किया गया है।

अभी तक विभागाध्यक्ष स्वीकृत पदों पर एक साल के लिए अनुबंध आधार पर कर्मचारियों की भर्ती कर सकते थे। मगर इसके लिए साक्षात्कार जरूरी था। वहीं, दो साल के लिए स्वीकृत नियमित पदों पर भर्ती के लिए वित्त विभाग से मंजूरी लेनी पड़ती थी। अब सरकार ने साक्षात्कार की शर्त और वित्त विभाग से अनुमति लेने के नियम में बदलाव कर दिया है।

सर्व कर्मचारी संघ के प्रदेश महासचिव सुभाष लांबा ने कहा कि चुनावी घोषणा पत्र में सरकार ने विभागों में ठेका प्रणाली को खत्म करने का वादा किया था। इसके उलट कर्मचारियों के शोषण के नए-नए तरीके खोजे जा रहे हैं। आउटसोर्सिंग पॉलिसी में लगे सभी मौजूदा कर्मियों को नियमित कर भविष्य में स्थायी भर्तियां ही की जाएं। साफ किया जाए कि साक्षात्कार खत्म करने के बाद आउटसोर्सिंग पर भर्तियों की प्रक्रिया क्या होगी।