News Description
हनीप्रीत ने जेल एडमिनिस्ट्रेशन को लेटर लिखा- बैंक अकाउंट सीज हैं, वकील की फीस कहां से दूं?

अम्बाला. साध्वी रेप केस में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा चीफ राम रहीम की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत ने जेल एडमिनिस्ट्रेशन को एक लेटर लिखा है। इसमें उसने कहा है कि वह इस वक्त तंगी से जूझ रही है और उसके पास अपना केस लड़ने तक के पैसे नहीं हैं। 25 अगस्त को बाबा को दोषी करार दिए जाने वाले दिन पंचकूला में हिंसा हुई थी। हनीप्रीत पर इसकी साजिश रचने का आरोप है।

- हनीप्रीत ने लेटर में लिखा है कि मेरे केस में पंचकूला एसआईटी ने कोर्ट में चार्जशीट पेश कर दी है। अब केस कोर्ट ट्रायल पर आ गया है। मेरे पास मुकदमा लड़ने के लिए पैसे नहीं हैं। इसलिए मेरे सीज तीनों बैंक अकाउंट खुलवाए जाएं। ऐसा नहीं हुआ तो मैं प्राइवेट वकील हायर नहीं कर पाऊंगी, क्योंकि मेरे पास उसे देने के लिए पैसे ही नहीं हैं।

फरार हो गई थी हनीप्रीत

- पंचकूला में हुई हिंसा के बाद हनीप्रीत रोहतक से फरार हो गई थी। वह 38 दिन बाद पंजाब से गिरफ्तार हुई थी।
- इस दौरान वह हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली में रही थी। हालांकि उसके नेपाल तक जाने के कयास लगाए जा रहे थे।
- इसी बीच पुलिस ने डेरे के बैंक खातों के साथ ही हनीप्रीत के भी 3 बैंक खाते सीज कर दिए थे।

SIT ने भी साजिश रचने का आरोपी बताया
- स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने अपनी चार्जशीट में हनीप्रीत को पंचकूला हिंसा की साजिश रचने का आरोपी बताया है। यह भी कहा गया है कि हिंसा के लिए हनीप्रीत ने ही डेढ़ करोड़ रुपए पंचकूला भेजे थे। बाबा को भगाने की साजिश भी उसी ने रची थी। हनीप्रीत के इशारे पर ही आगजनी, तोड़फोड़ और हिंसा शुरू हुई थी।

आदित्य इंसा को पकड़ने के लिए दबिश जारी
- उधर, पंचकूला पुलिस की टीम देशद्रोह के एक अन्य आरोपी डॉ. आदित्य इंसा को पकड़ने के लिए लगातार दबिश दे रही है। जिसमें डेरा सच्चा सौदा का एक डेरा भी शामिल है, लेकिन इन जगहों पर आदित्य के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिल पाई है। 
- इस मामले में अभी 20 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी बाकी है।