News Description
पंजाब नेशनल बैंक में ऋण वितरण शिविर का किया आयोजन

 पंजाब नेशनल बैंक नारनौल के सौजन्य से जिला अग्रणी कार्यालय में आज ऋण वितरण शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मुख्यातिथि के रूप में रोहतक मंडल प्रमुख पंजाब नेशनल बैंक श्रीकांत शर्मा ने शिरकत की। इस कार्यक्रम में 100 डेयरी फार्मिंग करने वाले किसानों को 1 करोड़ 29 लाख 67 हजार रुपए के ऋण स्वीकृति पत्र प्रदान किए। 
शर्मा ने बताया कि जिला महेंद्रगढ़ में आय का मुख्य साधन कृषि है। उन्होंने कहा कि कृषि के साथ-साथ किसान पशुपालन का कार्य आसानी से कर सकता है। इससे किसान की आय में इजाफा हो सकता है। इस मौके पर पंजाब नेशनल बैंक जिला महेंद्रगढ़ कि 20 शाखाओं से उपस्थित मुख्य प्रबन्धकों को निर्देश दिया कि आप अधिकाधिक कृषि ऋण स्वीकृत करें ताकि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने का जो स्वपन भारत सरकार द्वारा संजोया गया है उसे मुर्त रूप दिया जा सके। उन्होंने उपस्थित कृषि ऋण अधिकारीयों से आह्वान किया कि आपके पास जो भी बकाया ऋण प्रस्ताव है उनका शीघ्र निस्तारण करें।
मंडल प्रमुख श्रीकान्त शर्मा ने निदेशक पंजाब नेशनल बैंक ग्रामीण बेरोजगार प्रशिक्षण संस्थान नारनौल को निर्देश दिया कि उधमियता विकास कार्यक्रमों के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा बेरोजगारों को प्रशिक्षित किया जाए। उन्होंनेे बताया कि संस्थान द्वारा शीघ्र ही एक डेयरी फार्मिंग एवं जैविक खाद उत्पादन अन्य  प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाएगा जिसमें कोई भी 18 से 45 साल के बीच की आयु का बेरोजगार प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है।
इस अवसर पर डीडीएम नाबार्ड ओमपाल छोक्कर ने नाबार्ड के सौजन्य से डेयरी फार्मिंग के लिए चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं कि विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
इस मौके पर संतोष कुमार एलडीओ आरबीआई चंडीगढ़ ने उपस्थित जनसमुह को बताया कि बैंको के माध्यम से ऋण सुविधा लेकर आप अपनी आमदनी बढा सकते हो लेकिन कई बार जानकारी के अभाव में ऋण की किस्ते समय पर न भरने के कारण आपको अतिरिक्त ब्याज वहन करना पड़ता है। इसलिए बैंक का ऋण समय पर चुकता करें ताकि आपको कोई अतिरिक्त ब्याज वहन ना करना पड़े। 
इस मौके पर पर मुख्य अग्रणी जिला प्रबंधक एसडी पाठक ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक द्वारा रबी बोनान्जा 2017 चलाया जा रहा है जिसमें अधिकाधिक किसान भाईयों को लाभ मिल सके। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाना चाहिए। उन्होंने कृषि ऋण अधिकारीयों को निर्देश दिया कि इसकी प्रगति रिपोर्ट प्रतिदिन उपलब्ध करवाएं ताकि इसके बारे में उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया जा सके। 
इस अवसर पर पंजाब नेशनल बैंक ग्रामीण बेरोजगार प्रशिक्षण संस्थान नारनौल के निदेशक शंभु दयाल ने बताया कि ग्रामीण बेरोजगार युवक व युवतियों के लिए संस्थान द्वारा विगत सप्ताह डेयरी फार्मिंग एवं जैविक खाद उत्पादन का प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया था जिसमें जिले के 20 गांवों में पोता, थाना, जाखनी, लावन, मालडा, चन्दपुरा, मेघोत हाला, निजामपुर, सागरपुर, आकोदा, शोभापुर, सेका, छिलरो, तिगरा, बदोपुर, सिलारपुर, खोड, दौंगली, भोजावास, खुडाना आदि से संबंध रखने वाले बेरोजगार 13 पुरुष एवं 34 महिलाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका हैं।