News Description
युवक की मौत पर आराईयावाला में माहौल तनावपूर्ण, पुलिस ने की हवाई फायरिंग

यमुनानगर: खनन जोन में युवक की मौत के बाद गांव आराईयावाला में दूसरे दिन भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। परिजनों व ग्रामीणों ने मृतक का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया है। ग्रामीणों ने आज भी जाम लगाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने आंसू गैस गोले छोड़कर ग्रामीणों को वहां से खदेड़ा। फिर भी ग्रामीण सड़क पर आने लगे तो पुलिस ने कई राउंड हवाई फायर किए।

गांव की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने वहां धारा 144 लगा दी है। इसकी अनाउंसमेंट भी अधिकारियों ने लाउडस्पीकर के द्वारा गांव में की गई। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने गांव के कुछ लोगों को उठाया है, इसलिए पहले लोगों को छोड़ा जाए तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा, लेकिन पुलिस ने ग्रामीणों की किसी भी शर्त को मानने से इन्कार कर दिया है।

खिजराबाद के लाल टोपी घाट में ट्रैक्टर की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई थी। गुस्साए परिजनों ने गत दिवस थाने में तोडफ़ोड़ की और पत्थर बरसाए। इसके बाद जगाधरी-पांवटा साहिब नेशनल हाईवे पर अराइयांवाला के सामने शव को रखकर जाम लगाया। घटनास्थल पर पहुंचे छछरौली एसएचओ विरेंद्र राणा की भी जमकर पिटाई कर दी।

सात घंटे बाद बिलासपुर एसडीएम नवीन आहुजा ने एसएचओ खिजराबाद पर कार्रवाई का आश्वासन दिया तो लोगों ने जाम खोला, लेकिन आज फिर से माहौल तनावपूर्ण हो गया। लोगों ने शव रखकर जाम लगाने का प्रयास किया।