News Description
सरकार की नीतियों के विरोध में अध्यापक संघ देगा धरना

8 दिसंबर से दिए जाएंगे धरने : जिलाप्रधान साधुराम ने कहा कि आठ दिसंबर को अलेवा,11 दिसंबर को सफीदों,13 दिसंबर को पिल्लुखेड़ा जींद, 14 दिसंबर को नरवाना उझाना, 15 दिसंबर को जुलाना उचाना में धरना देकर खंड शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपेंगे। इस मौके पर कलीराम, रणधीर सिंह, रोहताश सरोहा, महेंद्र फौगाट, प्रमोद गौतम, मनोज रजाना, भूप सिंह वर्मा, हैप्पी सिंह, महावीर पोपड़ा, हैप्पी सिंह, निर्मला देवी मौजूद रहे। 

हरियाणाविद्यालय अध्यापक संघ की जिला कार्यकारिणी की बैठक रविवार को अक्षर भवन में हुई। इसकी अध्यक्षता जिला प्रधान साधुराम ने की। मंच संचालन जिला सचिव संजीव सिंगला ने किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार की गलत नीतियों के चलते आम जन से शिक्षा दूर होती जा रही है और सरकारी क्षेत्र में शिक्षा बनी रहे इसके लिए अध्यापकों और जनता को मिलकर सरकार के सामने एक बड़ा मजबूत आंदोलन खड़ा करना होगा। 

राज्य कमेटी सदस्य कलीराम ने कहा कि वर्तमान सरकार की गलत नीतियों के कारण सरकारी स्कूलों की हालत काफी खस्ता हो गई है। राज्य में अध्यापकों के लगभग 40 हजार पद खाली हैं और आधे से ज्यादा स्कूल मुखिया विहीन है। विभाग में अधिकारियों के पद ज्यादातर खाली है और तो नई भर्ती हो रही है और पदोन्नति हो रही है। बचे हुए अध्यापकों को किसी किसी बहाने कक्षा से बाहर रखकर पढ़ाई को बाधित करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सब सरकारी स्कूलों को बदनाम कर बंद करने की साजिश का हिस्सा है। गलत तबादला कर एनिवेयर गए शिक्षकों के तबादले नहीं किए जा रहे, स्टैप अप मामले में जान बुझकर नई नई शर्तें लगाई जा रही हैं। जिला प्रेस प्रवक्ता सत्येंद्र कुमार ने कहा कि संघ ने सरकार की इन गलत नीतियों अध्यापकों की मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करते हुए इसके प्रथम चरण में हरियाणा के सभी ब्लॉकों मे चार से 15 दिसंबर तक धरने देगा।