# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
विधायक के आदेश पर नहीं, शहर में सीएम विंडो के डर से होते है काम

हिसार : शहर में मौजूदा समय में करोड़ों रुपये के विकास कार्य चल रहे है। सैकड़ों सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। मगर, सड़कों के बीच में आने वाले खंभों को हटाने में नगर निगम प्रशासन का नकारात्मक रवैया देखने को मिल रहा है। दस बिजली के खंभों को हटाने की लिस्ट विधायक डा. कमल गुप्ता सौंप चुके हैं। वहीं बरवाला चुंगी से लेकर लाहौरिया चौक तक बनने वाले फोरलेन से खंभे हटाने को लेकर ठेकेदार डेढ़ महीने से चक्कर काट रहा है। हालांकि इंजीनिय¨रग ब्रांच के अधिकारियों के कहने पर नगर निगम के जेई रामदिया शर्मा बिजली निगम से हजारों रुपये का शुल्क जमा करवाकर एस्टीमेट इन खंभों को हटाने का बनवा चुके हैं। परंतु इंजीनिय¨रग विभाग के अधिकारियों ने बिजली निगम के प्रोजेक्ट के अनुरूप पैसा देकर का करवाने से इनकार कर दिया है।

यही वजह है कि ठेकेदार को मजबूरन बीच सड़क में लगे बिजली के खंभों के होते हुए सीसी की सड़क बनानी पड़ रही है। वहीं नगर निगम के इंजीनिय¨रग ब्रांच के अधिकारी वाह वाही लूटने में लगे हुए है और जनता का परेशान होना पड़ रहा है। वहीं रविवार को सीएम ¨वडो की शिकायत के आधार पर बिजली निगम ने ट्रांसफार्मर और खंभे हटाने का काम शुरू किया तो लोगों ने विरोध जताया दिया। इतना ही नहीं, डिप्टी मेयर भीम महाजन ने मौके पर पहुंच कर काम रूकवाया। इस कारण दस घंटे तक इस इलाके की बिजली प्रभावित रही।

..............

सीएम ¨वडो के डर से करवाए पांच लाख के काम का हुआ विरोध

बड़वाली ढाणी के नजदीक सड़क पर करीब 30 साल पुराने बिजली के खंभों व ट्रांसफार्मर को हटाने के लिए सीएम ¨वडो में शिकायत की गई थी। इसको लेकर नगर निगम ने बिजली निगम से एस्टीमेट बनवाया था। जिसमें पांच लाख रुपये खर्च बताया गया। वहीं रविवार को काम शुरू हुआ। ट्रांसफार्मर हटाकर दूसरी जगह बिजली के खंभे जब बिजली निगम के कर्मचारी लगाने लगे तो लोगों ने विरोध कर काम रूकवा दिया। लोग बिजली निगम अधिकारियों से पूर्व की तरह ही बिजली के खंभे लगाने की मांग कर रहे है। इसके चलते दस घंटे तक बिजली बाधित भी रही।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम की तरफ से बड़वाली ढाणी के नजदीक महावीर कॉलोनी जलघर की तरफ जाने वाली रोड पर ट्रांसफार्मर और खंभे सड़क के बीच में लगे है। इसके कारण नगर निगम की तरफ से सड़क का निर्माण करने के बावजूद उसका प्रयोग नहीं हो पा रहा था। इसको लेकर सीताराम ने सीएम ¨वडो में उनकी बि¨ल्डग के पास लगे ट्रांसफार्मर को हटाने की मांग रखी। सीएम ¨वडो ने बिजली निगम को आदेश दिए। एस्टीमेट बना और नगर निगम की तरफ से इसके पांच लाख रुपये जमा करवाए गए। पैसा देने के बाद यह खंभे हटाने की कार्रवाई शुरू हुई। लेकिन जहां पहले ट्रांसफार्मर लगा था उससे पांच फुट साइड में ही नए खंभे लगाकर उसको लगाने की तैयारी कर ली। लेकिन लोगों ने इसका विरोध कर दिया। नगर निगम डिप्टी मेयर भी मौके पर पहुंचे और काम को एक बार रूकवा दिया। बिजली निगम की तरफ से महावीर कॉलोनी की तरफ से मुड़वाने वाले मोड़ पर नए खंभे लगाकर ट्रांसफार्मर रखा जाएगा। इससे आने जाने वालों को फिर से परेशानी होगी। लोगों ने मांग उठाई कि खंभे और ट्रांसफार्मर को सड़क व बि¨ल्डग से से दूर किया जाए। लोगों ने सही तरह से इसको लगाने की मांग की है।

...............

ठेकेदार का कटना है पैसा, फिर भी नहीं कर रहे अधिकारी काम

जानकारी के अनुसार बरवाला चुंगी से लाहौरिया चौक तक तीन करोड़ 61 लाख रुपये में सीसी की फोरलेन बनाई जा रही है। इसके बीचों बीच बिजली के खंभे आ रहे है। इन खंभों को हटाने के लिए ठेकेदार विधायक डा. कमल गुप्ता और मेयर शकुंतला राजलीवाला दोनों से गुहार लगा चुके है। अधिकारियों ने 26 लाख रुपये का एस्टीमेंट बिजली निगम से बनवाया था। लेकिन बिजली निगम को पैसा जमा करवाने को लेकर निगम इंजीनियर आनाकानी कर गए। डेढ़ महीने से बिजली निगम नगर निगम से जवाब मिलने का इंतजार कर रहा है। वहीं नगर निगम के इंजीनिय¨रग ¨वग के अधिकारियों ने ठेकेदार को अपने स्तर पर ही बिजली के खंबों को हटाने के आदेश दे दिए है। हैरानी की बात यह है कि जब अधिकारियों को पैसा निगम के खाते से नहीं देना है। यह पैसा तीन करोड़ 61 लाख रुपये के अंदर से ही काटा जाना है। इसके बावजूद अधिकारी त्वज्जों नहीं दे रहे है।

............

महावीर कॉलोनी में हुए विवाद की जानकारी मुझे मिली है। लोगों के बीच जाकर उनसे बातचीत की जाएगी। लोगों को समस्या नहीं आए, उसी अनुरूप काम किया जाएगा।

अमित कुमार,एसडीओ , बिजली निगम।

..........

जनता से जुड़े कामों में इंजीनिय¨रग ब्रांच को लापरवाही नहीं करनी चाहिए। ठेकेदार को पैसा देना है ऐसा में बिजली निगम से काम करवाने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए। इस मामले में अधिकारियों से बातचीत की जाएगी।